Top
Home > Lead Story > "ये चुनाव तय करेंगे कि देश में व्यक्तियों के आधार पर चलने वाला दल का शासन हो या विचार पर चलने वाले दल का"

"ये चुनाव तय करेंगे कि देश में व्यक्तियों के आधार पर चलने वाला दल का शासन हो या विचार पर चलने वाले दल का"

ग्वालियर पहुंचे अमित शाह ने की घोषणा एमपी में सरकार बनी तो शिवराज ही होंगे मुख्यमंत्री

ये चुनाव तय करेंगे कि देश में व्यक्तियों के आधार पर चलने वाला दल का शासन हो या विचार पर चलने वाले दल का
X

ग्वालियर/स्वदेश वेब डेस्क। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने ग्वालियर में युवा कार्यकर्ता सम्मेलन कांग्रेस सहित सभी विपक्षी दलों को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार देश से गरीबी, बेरोजगारी, भुखमरी जैसी कई बड़ी समस्याओं को हटाने की योजनाएं बनाती है लेकिन राहुल बाबा एन्ड कम्पनी मोदी हटाने की योजना बनाते है। उन्होंने कहा कि जिनके पास देश की जनता के बारे सोचने की शक्ति ना हो वो क्या देश का विकास करेंगे। अमित शाह ने कहा कि जिनके पास नेता नहीं है जिसके पास नीति नहीं है वो क्या देश और प्रदेश का भविष्य तय करेंगे। उन्होंने घोषणा की कि यदि मध्यप्रदेश में हमारी सरकार बनी शिवराज सिंह चौहान ही मुख्यमंत्री होंगे।

ग्वालियर संभाग के दौरे पर आये अमित शाह ने ग्वालियर के संस्कृति गार्डन में आयोजित युवा सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए युवाओं को उनकी शक्ति का अहसास कराया। उन्होंने ग्वालियर चम्बल की धरती को युवाओं से बात करने के लिया सबसे उपयुक्त बताते हुए कहा कि इसी धरती पर 23 साल की युवावस्था में रानी लक्ष्मी बाई ने अंग्रेजो के दांत खट्टे किये थे । उन्होंने कहा कि ये देश के लिए मर मिटने वालों की भूमि है। अमित शाह ने पंडित रामप्रसाद बिस्मिल, महादजी सिंधिया, अटल जी राजमाता सिंधिया को याद करते हुए कहा कि इन महापुरुषों की भूमि है।

अमित शाह ने कहा कि 1975 में इंदिरा गांधी ने आपातकाल लगाकर देश के प्रजातंत्र जो समाप्त करने का प्रयास किया लेकिन 1977 में ये फिर से उठ खड़ा हुआ। उन्होंने कहा कि कुछ लड़ाइयाँ परिवर्तन करने वाली होती है अमित शाह ने कहा कि मध्य प्रदेश राजस्थान और छत्तीसगढ़ के चुनाव परिणाम देश को बदलने वाले होंगे ये तय करेंगे कि देश में किसकी सरकार हो व्यक्तियों के आधार पर चलने वाली पार्टी की या विचारों पर चलने वाली पार्टी की।

कांग्रेस, सपा, बसपा सहित एनी विपक्षी दलों को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि जो लोग परिवार से आगे की नहीं सोच पाते, जिनके पास ना नेता है ना नीति, जो देश की गरीब, भुखमरी, बेरोजगारी जैसे समस्याओं को हटाने की जगह मोदी हटाओ का सपना देखते हैं वो क्या देश का विकास करेंगे, वो क्या देश का भविष्य बनायेंगे। उन्होंने घोषणा की कि यदि मध्यप्रदेश में फिर हमारी सरकार बनी तो शिवराज सिंह ही मुख्यमंत्री होंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने मध्यप्रदेश को डाकुओं का प्रदेश बना दिया और भाजपा की शिवराज सरकार ने इसे बीमारू से विकसित राज्यों की श्रेणी में ला दिया।

अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने देश में सोचने का स्केल बदल दिया। उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक विदेश नीति, विश्व में भारत की बढती साख, स्टार्ट अप, स्किल इंडिया सहित कई योजनाये और सरकार के काम गिनाते हुए कहा कि ये सब 2014 के बाद हुआ है। उन्होंने युवाओं से कहा कि आज जो मंच पर बैठे हैं वो सब 50 प्लस हैं और आने वाला समय आपका है इसलिए आप ही देश का भविष्य हो और आपको ही देश का भविष्य बनाना है।

कार्यक्रम से पहले अमित शाह श्रद्धांजलि देने भारत रत्न स्व. अटल बिहारी वाजपेयी के शिंदे की छावनी स्थित घर, महारानी लक्ष्मी बाई की समाधि एवं राजमाता विजयाराजे सिंधिया की समाधि पर भी गए।

युवा सम्मेलन के अवसर पर मंच पर राष्ट्रीय संगठन महामंत्री श्री रामलाल, केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान, राज्यसभा सांसद एवं प्रदेश प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे, केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत, महापौर विवेक शेजवलकर, उच्च शिक्षा मंत्री जयभान सिंह पवैया, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री माया सिंह, मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया, नवकरणीय ऊर्जा मंत्री नारायण सिंह कुशवाह, युवा मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष अभिलाष पांडे, संभागीय संगठन मंत्री शैलेन्द्र बरुआ, संभागीय सहप्रभारी राजेश सोलंकी, वेदप्रकाश शर्मा, जिला अध्यक्ष देवेश शर्मा, जिला महामंत्री कमल माखीजानी, शरद गौतम, महेश उमरैया सहित कई वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Updated : 2018-10-19T00:59:15+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top