Top
Home > Lead Story > ममता मौत में भी तुष्टिकरण और वोटबैंक की राजनीति करती हैं : अमित शाह

ममता मौत में भी तुष्टिकरण और वोटबैंक की राजनीति करती हैं : अमित शाह

ममता मौत में भी तुष्टिकरण और वोटबैंक की राजनीति करती हैं : अमित शाह
X

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के पांचवें चरण के मतदान से पहले भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को पश्चिम बंगाल के नदिया जिले के शांतिपुर में रोड शो किया। रोड शो के दौरान कार्यकर्ताओं और समर्थकों का जनसैलाब उमड़ पड़ा।

जनसभा में शाह ने राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर जमकर हमला बोलते हुए कि ममता मौत में भी तुष्टिकरण और वोटबैंक की राजनीति करती हैं। शनिवार को सीतलकुची में केन्द्रीय बल की गोली से चार लोगों की मौत के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का यह पहला बंगाल दौरा है। सीतलकुची कांड के लिए सीधे रूप से केन्द्रीय गृह मंत्री को दोषी करार देते हुए ममता ने उनके इस्तीफे की मांग की है। उन्होंने आरोप लगाया है कि केंद्रीय गृह मंत्री चुनाव कार्य में हस्तक्षेप कर रहे हैं और सीधे रूप से चुनाव आयोग को संचालित कर रहे हैं।

शाह ने कहा कि शनिवार की घटना दुखद है। एक बूथ पर कुछ अज्ञात लोगों ने हमला किया, जब सीआईएसएफ को अपने बचाव के लिए गोली चलानी पड़ी, जिसमें चार लोगों की मौत हुई। उन्होंने कहा कि जिस तरह से इस घटना का राजनीतिकरण किया जा रहा है, यह दुखद है। उसी बूथ पर आनंद बर्मन की गुंडों ने हत्या कर दी गई, ताकि वहां मतदान न हो। उसी बूथ पर हमला किया गया और सीआईएसएफ पर हमला हुआ। उन्होंने कहा कि ममता दीदी केवल चार लोगों को श्रद्धांजलि देती हैं। मौत में भी तुष्टिकरण और वोट बैंक की राजनीति करती हैं। बंगाल की राजनीति को कितना गिराया है। यह इसका उदाहरण है। मौत किसी की भी हो, राजनीति के परे होनी चाहिए। आनंद बर्मन राजवंशी समाज का है। वह वोट बैंक के अनुकूल नहीं था। इसीलिए ममता बनर्जी ने उसको श्रद्धांजलि नहीं दी है। शाह ने कहा कि मौत पर भी राजनीति करना ममता बनर्जी की आदत है।

Updated : 11 April 2021 9:49 AM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top