Home > Lead Story > रिपोर्ट : फाइजर कोविड वैक्सीन के ट्रायल में 44% गर्भवती महिलाओं ने बच्चों को खोया, भारत में नहीं मिली थी मंजूरी

रिपोर्ट : फाइजर कोविड वैक्सीन के ट्रायल में 44% गर्भवती महिलाओं ने बच्चों को खोया, भारत में नहीं मिली थी मंजूरी

अमेरिकी कम्पनी फाइजर ने भारत में गर्भवती महिलाओं पर ट्रायल के लिए केंद्र सरकार और भारत ड्रग कंट्रोलर को आवेदन दिए थे जिसे अवलोकन के बाद सख्ती से निरस्त कर दिया गया था।

रिपोर्ट : फाइजर कोविड वैक्सीन के ट्रायल में 44% गर्भवती महिलाओं ने बच्चों को खोया, भारत में नहीं मिली थी मंजूरी
X

वेबडेस्क। अमेरिकी कंपनी फाइजर द्वारा निर्मित कोविड वैक्सीन की ट्रायल के दौरान गर्भवती महिलाओं पर नकरात्मक परिणाम सामने आने की रिपोर्ट सामने आई है। जिसके बाद विश्वभर में गर्भवती महिलाओं को अमेरिकी वैक्सीन फाइजर के टीके की डोज न देने की मांग उठने लगी है।


एक अमेरिकी न्यायाधीश ने इस मामले का खुलासा किया है। उन्होंने एक मामले की सुनवाई के दौरान फाइजर के ट्रायल रिपोर्ट को जारी करते हुए ये बात कही। इस रिपोर्ट के अनुसार कोरोना वैक्सीन परीक्षण में 44% गर्भवती महिलाओं ने अपने बच्चों को खो दिया। हालांकि फाइजर द्वारा इस वैक्सीन को गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित घोषित कर रखा है लेकिन ट्रायल रिपोर्ट से स्पष्ट है की इसके ट्रायल के दौरान गर्भवती महिलाओं ने अपने बच्चों को खो दिया था। जिसके बाद गर्भवती महिलाओं पर टीकाकरण को रोकने की मांग हो रही है।

बता दें की भारत में भी जारी टीकाकरण अभियान में इस वैक्सीन को शामिल किए जाने की मांग उठी थी। भारत में कई उदारवादी और और लुटियंस मीडिया लगातार इस वैक्सीन को भारत में लागू करने की मांग कर रहे थे। लेकिन भारत ड्रग कंट्रोलर द्वारा इसे देश में अनुमति नहीं दी गई। जिसके कारण देश की गर्भवती महिलांए बड़ी हानि से बच गई। गौरतलब है की भारत में स्वदेशी वैक्सीन से टीकाकरण अभियान सफलतापूर्वक चल रहा है। कोई भी गंभीर परिणाम सामने नहीं आये है।

Updated : 2022-08-25T11:49:41+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top