Top
Home > Lead Story > अयोध्या में दो सौ करोड़ से बनेगा भगवान श्रीराम के नाम से हवाई अड्डा

अयोध्या में दो सौ करोड़ से बनेगा भगवान श्रीराम के नाम से हवाई अड्डा

अयोध्या में दो सौ करोड़ से बनेगा भगवान श्रीराम के नाम से हवाई अड्डा
X

हंगामे के बीच विधान सभा में आठ हजार करोड़ रुपये से अधिक का अनुपूरक बजट पेश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधान सभा में विपक्ष के जोरदार हंगामे के बीच वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने बुधवार को आठ हजार चौवन लाख करोड़ रुपये से अधिक का अनुपूरक बजट पेश किया। भारतीय संस्कृति की धुरी मानते हुए पूरी क्षमता से कुम्भ के आयोजन में लगी योगी सरकार ने इसके आयोजन के लिये अनुपूरक बजट के जरिये सौ करोड़ रुपये की मांग रखी है।

प्रस्तावित हवाई अड्डे के विस्तार के लिए दो सौ करोड़ रुपये

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में सदन में पेश अनुपूरक बजट में अयोध्या में मेडिकल कॉलेज की स्थापना के लिये बजट की व्यवस्था की गई है। इसी तरह अयोध्या में ही भगवान श्रीराम के नाम से प्रस्तावित हवाई अड्डे के वृहत निर्माण के लिये दो सौ करोड़ रुपये की व्यवस्था की गयी है। इसके साथ ही गौतमबुद्ध नगर जिले के जेवर में अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के निर्माण के लिये अनुपूरक बजट में तीन सौ करोड़ रुपये की व्यवस्था की गयी है। रेल उपरिगामी पुलों के ​निर्माण के लिये 80 करोड़ रुपये की मांग की गयी है। अनुपूरक बजट में पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर उत्तर प्रदेश चिकित्सा विश्वविद्द्यालय की स्थापना के लिये दस करोड़ रुपये की व्यवस्था की गयी है।

चालू वित्तीय वर्ष में योगी सरकार का दूसरा अनुपूरक बजट

अनुपूरक बजट पेश करते हुये वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने कहा कि अनुपूरक बजट में आकस्मिता निधि से स्वीकृति अग्रिम की प्रतिपूर्ति के लिये एक सौ पांच करोड़ और समेकित निधि पर व्यय के लिये 44 करोड़ 20 लाख रुपये की व्यवस्था की गयी है। योगी सरकार का चालू वित्तीय वर्ष में यह दूसरा अनुपूरक बजट है। इससे पहले करीब 13 हजार करोड़ रुपये का अनुपूरक पेश किया गया था।

विधान सभा अध्यक्ष के मना करने पर भी जारी रहा हंगामा

विधान सभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित के विपक्ष को बार-बार मना करने के बावजूद सदन में हंगामा जारी रहा। हंगामा खत्म नहीं होते देख अध्यक्ष ने अनुपूरक पेश करने के निर्देश वित्त मंत्री को दे दिये। इससे पहले विधानसभा में प्रश्नकाल विपक्ष के हंगामे की भेंट चढ़ गया। सदन की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष पहले अपनी बात रखने पर अड़ गया। हालांकि, अध्यक्ष ह्रदय नारायण दीक्षित चाहते थे कि प्रश्नकाल के बाद विपक्ष अपनी बात रखे। लेकिन, समाजवादी पार्टी नेता इकबाल महमूद, बहुजन समाज पार्टी के लालजी वर्मा और कांग्रेस के अजय कुमार उर्फ लल्लू एक साथ खड़े होकर अपना पक्ष रखने पर अड़े रहे। इस दौरान विपक्षी सदस्यों को सरकार विरोधी नारे लिखे पोस्टर लहराते देखा गया।

सदन की कार्यवाही स्थगित होने तक वेल में बैठा रहा विपक्ष

विधान सभा अध्यक्ष दीक्षित के बार-बार आग्रह करने के बावजूद विपक्ष पर कोई असर नहीं पड़ा, तो अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही पहले आधे घंटे और बाद में 12 बजकर बीस मिनट तक स्थगित कर दी। विधानसभा में प्रश्नकाल 11 बजे से 12 बजकर बीस मिनट तक रहता है। अध्यक्ष ने विपक्षी सदस्यों से कहा कि आप लोग अपने घर से आपत्तिजनक बैनर लाये हैं, इससे लगता है कि आप सोचकर आये हैं कि सदन की कार्यवाही बाधित करेंगे। यह अनुचित है।

सदन की कार्यवाही स्थगित होने के बावजूद विपक्ष वेल में बैठा रहा और कानून-व्यवस्था ध्वस्त है, योगी बाबा मस्त हैं जैसे सरकार विरोधी नारे लगाता रहा। सदन में सपा सदस्यों को लाल और कांग्रेस सदस्यों को सफेद टोपी में देखा गया। बीच-बीच में सत्ताधारी भाजपा सदस्य नारों का जवाब नारे से देते देखे गये। (हि.स.)

Updated : 2019-01-05T14:40:10+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top