Home > राज्य > अन्य > जम्मू-कश्मीर > जोजिला सुरंग बनेगी जम्मू कश्मीर-लद्दाख़ की जीवन रेखा : नितिन गड़करी

जोजिला सुरंग बनेगी जम्मू कश्मीर-लद्दाख़ की जीवन रेखा : नितिन गड़करी

दिसम्बर 2023 तक पूरा होगा कार्य

जोजिला सुरंग बनेगी जम्मू कश्मीर-लद्दाख़ की जीवन रेखा : नितिन गड़करी
X

श्रीनगर। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने मंगलवार को जोजिला सुरंग के निर्माण कार्य का निरीक्षण किया। उन्होंने उम्मीद जताई कि सुरंग का कार्य निर्धारित अवधी से पहले ही दिसम्बर 2023 में पूरा हो जाएगा। इस सुरंग के तैयार होने के बाद साल भर लेह, लद्दाख़ का संपर्क श्रीनगर से बना रहेगा।

गडकरी ने जोजिला सुरंग के जम्मू कश्मीर और लद्दाख दोनों सिरों पर चल रहे निर्माण कार्य का जायजा लिया। उनके साथ केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग राज्यमंत्री वीके सिंह भी मौजूद रहे।

निर्माण कार्यों की समीक्षा -


दोनों मंत्रियों ने पहले श्रीनगर से सोनमर्ग को जोड़ने वाली जेड मोड़ सुरंग पर चल रहे कार्यों का निरीक्षण किया। तत्पश्चात उन्होंने जोजिला सुरंग के निर्माण कार्य का जायजा लिया। इस अवसर पर एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए गडकरी ने निर्माण कार्य की प्रगति पर संतोष जताया। उन्होंने कहा कि उम्मीद नहीं थी कि इतनी तेजी से निर्माण कार्य सम्भव हो पायेगा। इसके लिए उन्होंने मेघा इंजीनियरिंग इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (एमईआईएल) और नेशनल हाइवे इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कार्पोरेशन लिमिटेड (एनएचआईडीसीएल) के अधिकारियों और इंजीनियरों की सराहना की।

विकास बढ़ेगा -

केंद्रीय मंत्री ने जोजिला सुरंग के बन कर तैयार होने के बाद जम्मू कश्मीर और लद्दाख क्षेत्र के तीव्र विकास की उम्मीद जताई। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर में सामाजिक, आर्थिक प्रगति के रास्ते विकास का मार्ग तैयार किया जायेगा । इससे रोजगार के अवसर पैदा होंगे और विश्व पटल पर जम्मू-कश्मीर और लद्दाख़ नये रूप में अपनी पहचान बनाएंगे।

केंद्रीय मंत्री ने इस दौरान जम्मू-कश्मीर और लद्दाख़ के विकास रूपरेखा भी पेश की। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में विकास के लिये कुल 52 सुरंग तैयार की जाएंगी। जम्मू कश्मीर में 32 और लद्दाख क्षेत्र में 20 सुरंगें बनेंगी। इतना ही नहीं, उन्होंने 6 महत्वपूर्ण सड़क परियोजनाओं का भी प्रमुखता से उल्लेख किया। इसमें जम्मू-श्रीनगर, जम्मू-लद्दाख-श्रीनगर, जम्मू-पूंछ, श्रीनगर-सोफिन, सायथन और खिलानी सड़क परियोजना शामिल है। इन परियोजनाओं का निर्माण कार्य प्रगति पर है और एक लाख करोड़ रुपये खर्च का अनुमान है।

जोजिला सुरंग बनेगी जम्मू कश्मीर-लद्दाख़ की जीवन रेखा -

नितिन गडकरी ने जोजिला को एशिया की सबसे लंबी और दुनिया की सबसे ऊंची सुरंग बताया। उन्होंने कहा कि भविष्य में यह सुरंग जम्मू-कश्मीर, लद्दाख़ की जीवनरेखा बनेगी। वाई (y) दिशा में बनी इस सुरंग से पूरे वर्ष वाहनों का आवागमन रहेगा। इससे आर्थिक प्रगति का मार्ग भी सशक्त होगा। साथ ही देश के लिए सामरिक दृष्टि से भी यह सुरंग महत्वपूर्ण साबित होगी।


Updated : 2021-10-12T16:00:32+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top