Home > राज्य > अन्य > जम्मू-कश्मीर > नेशनल कांफ्रेंस को बड़ा झटका, भाजपा में शामिल हुए देवेंद्र राणा और सलाथिया

नेशनल कांफ्रेंस को बड़ा झटका, भाजपा में शामिल हुए देवेंद्र राणा और सलाथिया

नेशनल कांफ्रेंस को बड़ा झटका, भाजपा में शामिल हुए देवेंद्र राणा और सलाथिया
X

श्रीनगर। जम्मू और कश्मीर में नेशनल कांफ्रेंस को अलविदा कहने के बाद देवेंद्र राणा और सुरजीत सिंह सलाथिया ने सोमवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सदस्यता ग्रहण कर ली।भाजपा मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान , डॉ. जितेंद्र सिंह और हरदीप सिंह पुरी, जम्मू कश्मीर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष रविन्द्र रैना ने दोनों नेताओं को प्राथमिक सदस्यता की पर्ची और अंगवस्त्र देकर पार्टी में शामिल कराया।


इस अवसर पर प्रधान ने कहा कि देवेंद्र राणा और सुरजीत सिंह सलाथिया के भाजपा में शामिल होने के बाद जम्मू कश्मीर में पार्टी को और मजबूती मिलेगी। उन्होंने कहा कि इन दोनों नेताओं का भाजपा में शामिल होना हमारी उस राज्य के विकास और उन्नति के प्रति प्राथमिकता के निश्चय को और आगे बढ़ाता है।

कश्मीर प्रधानमंत्री की प्राथमिकता -

डॉ. सिंह ने दोनों नेताओं का पार्टी में स्वागत किया। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीरी लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दिल के कितने करीब हैं, इस बात का अंदाजा आप इससे लगा सकते हैं कि उन्होंने प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली दीवाली कश्मीर में मनाई थी। जम्मू कश्मीर उनके लिए सदा प्राथमिकता में रहा है। उन्होंने कहा कि आज विश्व के इस सबसे बड़े दल के साथ दो महत्वपूर्ण नेताओं का जुड़ना इस बात का प्रतीक है कि विकास की राह पर हमें मिलकर बढ़ना है।

समावेशी पटकथा बनाने का प्रयास -

भाजपा में शामिल होने के बाद देवेंद्र राणा ने कहा कि जम्मू कश्मीर की राजनीति में जम्मू का भी एक अपना मजबूत दखल होना चाहिए। वक्त आ गया है कि जम्मू का भी एक राजनीतिक नैरेटिव हो। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा नेतृत्व के साथ मिलकर जम्मू-कश्मीर में जम्मू के लिए एक समावेशी पटकथा बनाने का हमारा प्रयास होगा। राणा ने कहा कि हम ''डिक्सन'' योजना और उनके समर्थकों को सफल नहीं होने देंगे।

उल्लेखनीय है कि राणा और सलाथिया ने रविवार को नेशनल कांफ्रेंस की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। राणा जम्मू में नेशनल कांफ्रेंस के सबसे प्रभावी नेताओं में से एक हैं। उन्हें उमर अब्दुल्ला का करीबी नेता माना जाता रहा है।

Updated : 2021-10-12T15:25:42+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top