Top
Home > विदेश > चीन से टेंशन : फ्रांस ने बढ़ाया दोस्ती का हाथ

चीन से टेंशन : फ्रांस ने बढ़ाया दोस्ती का हाथ

चीन से टेंशन : फ्रांस ने बढ़ाया दोस्ती का हाथ

नई दिल्ली। फ्रांसीसी रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पैली ने कल अपने भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को चिट्ठी लिखकर गलवान घाटी में 20 भारतीयों की शहादत पर शोक व्यक्त किया है। फ्रांसीसी रक्षा मंत्री ने पत्र में लिखा, "यह सैनिकों, उनके परिवारों और राष्ट्र के खिलाफ एक हमला था। इन कठिन परिस्थितियों में मैं फ्रांसीसी सशस्त्र बलों के साथ अपने दृढ़ और मैत्रीपूर्ण समर्थन को व्यक्त करना चाहती हूं।"

इस बात को याद करते हुए कि भारत, फ्रांस का रणनीतिक साझेदार है, रक्षा मंत्री पार्ली ने अपने देश की गहरी एकजुटता को दोहराया। फ्रांस के सशस्त्र बल मंत्री ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के आमंत्रण को स्वीकार करते हुए भारत में मिलने के लिए तत्परता व्यक्त की।

भारत के शीर्ष रक्षा अधिकारियों ने कहा है कि उम्मीद के अनुरूप फ्रांस भारतीय वायुसेना को दो राफेल लड़ाकू विमानों की आपूर्ति जुलाई अंत तक कर देगा। अधिकारियों ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के शुरुआत में ही फ्रांस ने भारत को आपूर्ति तिथि के बारे में सूचित कर दिया था। एक वरिष्ठ आईएएफ अधिकारी ने कहा कि फ्रेंच कंपनी दशॉ एविएशन बहुप्रतीक्षित दो राफेल लड़ाकू विमानों की आपूर्ति जुलाई अंत तक कर देगी।

भारत और फ्रांस ने सोमवार को आपसी बहुपक्षीय सहयोग की प्रगति की समीक्षा की। विदेश मंत्रालय ने एक वक्तव्य जारी कर बताया कि दोनों देशों के विदेश सचिवों के बीच वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये हुई इस समीक्षा बैठक में आपसी हितों के क्षेत्रीय तथा वैश्विक मुद्दों पर चर्चा की गई। भारत ने फ्रांस के आपदा प्रबंधन अवसंरचना पर अंतरार्ष्ट्रीय गठबंधन में शामिल होने का स्वागत किया जबकि फ्रांस ने भारत को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का अस्थायी सदस्य चुने जाने पर बधाई दी।

Updated : 30 Jun 2020 8:17 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top