Top
Home > विदेश > डिजिटल द्विपक्षीय शिखर-वार्ता में बोले मोदी : भारत-श्रीलंका के संबंधों में एक नए अध्याय की शुरुआत का अवसर

डिजिटल द्विपक्षीय शिखर-वार्ता में बोले मोदी : भारत-श्रीलंका के संबंधों में एक नए अध्याय की शुरुआत का अवसर

डिजिटल द्विपक्षीय शिखर-वार्ता में बोले मोदी : भारत-श्रीलंका के संबंधों में एक नए अध्याय की शुरुआत का अवसर
X

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के साथ अनेक विषयों पर बातचीत की जिनमें द्विपक्षीय संबंध तथा महत्वपूर्ण क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने जैसे विषय शामिल रहे। डिजिटल द्विपक्षीय शिखर-वार्ता में अपने शुरुआती वक्तव्य में पीएम मोदी ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि श्रीलंका में राजपक्षे सरकार की नीतियों के आधार पर चुनाव में सत्तारूढ़ पार्टी की बड़ी जीत दोनों देशों के बीच सहयोग को और गहन बनाएगी।

उन्होंने कहा, ''चुनाव में आपकी पार्टी की विजय के बाद भारत-श्रीलंका के संबंधों में एक नए अध्याय की शुरुआत का अवसर आया है। दोनों देशों के लोग नई उम्मीद और अपेक्षाओं के साथ हमें देख रहे हैं।'' राजपक्षे ने 9 अगस्त को नये कार्यकाल के लिए श्रीलंकाई प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली थी। उनकी पार्टी 'श्रीलंका पीपुल्स फ्रंट' ने संसदीय चुनावों में दो तिहाई बहुमत हासिल किया। पीएम मोदी ने कहा कि भारत श्रीलंका के साथ अपने संबंधों को प्राथमिकता देता है।

श्रीलंकाई पीएम के साथ पीएम मोदी की वार्ता को लेकर विदेश मंत्रालय ने कहा कि रिश्तों की मजबूत महत्वाकांक्षी एजेंडे को तय करने में इस बातचीत से मदद मिलेगी। इस सम्मेलन के परिणाम ठोस हैं और आगे ले जाने वाले हैं।

विदेश मंत्रालय ने कहा कि श्रीलंका के पीएम राजपक्षे ने खासतोर पर जाफना सांस्क़ृतिक केन्द्र का उल्लेख किया है जिसे भारत की मदद से तैयार किया गया। यह केन्द्र लगभग तैयार हो चुका है और पीएम राजपक्षे ने पीएम मोदी को इसके उद्घाटन के लिए निमंत्रण भी दिया है।

विदेश मंत्रालय के बताया कि पीएम मोदी ने इस बात पर उम्मीद जाहिर की है श्रीलंकी की तरफ से कुछ उत्पादों पर लगाई गई अस्थाई रोक को जल्द हटा लिया जाएगा क्योंकि इससे श्रीलंका की आर्थव्यवस्था और आम लोगों को फायदा मिलेगा।

Updated : 2020-09-27T00:45:37+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top