Home > विदेश > दक्षिण अफ्रीका में मिला कोरोना का नया संक्रमण, विश्व की बढ़ी चिंता

दक्षिण अफ्रीका में मिला कोरोना का नया संक्रमण, विश्व की बढ़ी चिंता

दक्षिण अफ्रीका में मिला कोरोना का नया संक्रमण, विश्व की बढ़ी चिंता
X

जोहान्सबर्ग। यूरोप के कई देशों में कोरोना के संक्रमण मामलों में उछाल के बीच दक्षिण अफ्रीका के 'बोत्सवाना' में कोरोना वायरस का नया घातक संस्करण मिला है। ब्रिटिश विशेषज्ञों ने कोरोना वायरस के इस संस्करण को खतरे की घंटी बताया है। एक रिपोर्ट के अनुसार, कोविड का यह नया संस्करण, वायरस का सबसे नया उत्परिवर्तित (म्यूटेंट) स्वरूप है।

दक्षिण अफ्रीका में पिछले साल कोविड वायरस के बीटा संस्करण का पता चला था। हालांकि अभीतक सबसे अधिक लोग डेल्टा संस्करण से संक्रमित हुए, जो पहली बार भारत में मिला था। रिपोर्ट के अनुसार बोत्सवाना में मिला कोविड वायरस के नए संस्करण में 32 बार म्यूटेट (उत्परिवर्तित) होते हैं, जिनमें से कई तेजी से फैलने वाला और वैक्सीन प्रतिरोधी है। इसके अलावा स्पाइक प्रोटीन में किसी भी अन्य प्रकार की तुलना में तेजी से बदलाव होता है।

केवल 10 मामलों में स्ट्रेन का अबतक पता चला है, जिसे 'एनयू' नाम दिया गया है। लेकिन इसे पहले ही तीन देशों में देखा जा चुका यह संस्करण तेजी से फैलने के साथ ही इसकी व्यापकता अधिक है। फिलहाल भारत में इसका कोई केस नहीं है लेकिन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार इस पर नजर रखी जा रही है।एक रिपोर्ट में यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के एक आनुवंशिकी विद् प्रोफेसर फ्रेंकोइस बलौक्स के हवाले से कहा कि एक मरीज में नया संस्करण उभरा है, संभवत: यह स्ट्रेन ऐसे मरीज से म्यूटेट हुआ है जिसके एड्स होने का पता नहीं चला था।स्पाइक में बदलाव से मौजूदा वैक्सीन के लिए लड़ना मुश्किल हो जाता है, क्योंकि वे वायरस के पुराने संस्करण की प्रतिरक्षा प्रणाली से लड़ने में सक्षम हो जाते हैं।

Updated : 2021-11-29T13:42:53+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top