Top
Home > विदेश > अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति ने पाकिस्तान को याद दिलाई 1971 की हार

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति ने पाकिस्तान को याद दिलाई 1971 की हार

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति ने पाकिस्तान को याद दिलाई 1971 की हार
X

काबुल। अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति ने ट्विटर पर एक तस्वीर साझा कर पाकिस्तान की बोलती बंद कर दी है। अमरुल्लाह सालेह ने एक तस्वीर शेयर कर पाकिस्तान पर तंज कसा है। अमरुल्लाह सालेह ने लिखा है कि 'हमारे इतिहास में ऐसी कोई तस्वीर नहीं है और न कभी होगी। हां, कल कुछ पल के लिए उस वक्त मैं हिल गया था, जब हमारे ऊपर से गुजरते हुए रॉकेट कुछ मीटर की दूरी पर गिरे।पाकिस्तान के प्रिय ट्विटर हमलावरों, तालिबान और आतंकवाद आपके उस घाव पर मरहम नहीं लगाएगा, जो घाव और जो ट्रॉमा आपको ये तस्वीर देगा। कोई और तरीका खोजें।'

दरअसल, उन्होंने ट्विटर पर वह तस्वीर साझा की है, जिसमें पाकिस्तानी लेफ्टिनेंट जनरल एएके नियाजी ने भारत के लेफ्टिनेंट जनरल जगजीत सिंह अरोड़ा के सामने सरेंडर किया था।उल्लेखनीय है कि यह तस्वीर पाकिस्तान के हार मानने के बाद की है। उस वक्त पाकिस्तान के 90 हजार से अधिक सैनिकों ने भारत के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था। उस समय इंदिरा गांधी प्रधानमंत्री थीं। पाकिस्तानी सेना प्रमुख ने भारतीय सेना प्रमुख के समक्ष आत्मसमर्पण के कागज पर हस्ताक्षर किए थे।

Updated : 22 July 2021 2:27 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top