Home > स्वास्थ्य > विश्व मधुमेह दिवस : बच्चों से लेकर युवाओं में तेजी से बढ़ी रही डाइबिटीज

विश्व मधुमेह दिवस : बच्चों से लेकर युवाओं में तेजी से बढ़ी रही डाइबिटीज

विश्व मधुमेह दिवस : बच्चों से लेकर युवाओं में तेजी से बढ़ी रही डाइबिटीज
X

वेबडेस्क। मधुमेह की बीमारी लगातार बढ़ती जा रही है। वर्तमान समय में मधुमेह से हर पांच में एक व्यक्ति इस रोग से ग्रसित है। खानपान की खराबी, वर्तमान शैली में शारीरिक श्रम की कमी के कारण जिले में भी तेजी से मधुमेह रोगियों की संख्या बढ़ रही है। इसमें बच्चों से लेकर युवा भी शामिल हैं। उसका प्रमुख कारण अनियमित दिनचर्या, खराब खान पान व मोटापा है। इसी तरह युवाओं में धूम्रपान व शराब का सेवन परेशानी पैदा कर रहा है। हालात यह हैं कि हर साल 5 से 8 फीसद लोग प्री डायबिटिक से डायबिटिक बन रहे हैं। चिकित्सकों का कहना है कि इस बीमारी में रक्त में ग्लूकोज का स्तर सामान्य से अधिक बढ़ जाता है और रक्त की कोशिकाएं इस शर्करा को उपयोग नहीं कर पाती। यदि यह ग्लूकोज का बढ़ा हुआ लेवल खून में लगातार बना रहे तो शरीर के अंग प्रत्यंगों को नुकसान पहुंचाना शुरू कर देता है। इसलिए उक्त बीमारी की रोकथाम बहुत आवश्यक है, इसके लिए लोगों को अपनी जीवन शैली में परिवर्तन करना होगा।

प्रतिदिन करें शारीरिक व्यायाम

गजराराजा चिकित्सा महाविद्यालय के मेडिसिन रोग विशेषज्ञ डॉ. विजय गर्ग का कहना है कि व्यायाम करने से इंसुलिन प्रतिरोध में कोलेस्ट्रोल के स्तर में सुधार लाता है। शारीरिक मेहनत से अच्छे प्रकार के कोलेस्ट्रोल (एचडीएल) को बढ़ाने और बुरे प्रकार के कोलेस्ट्रोल (एलडीएल) और ट्राइग्लिसराइड को कम करने में मदद करता है। व्यायाम हाइपरटेंशन या उच्च रक्तचाप को भी नियंत्रित करता है। व्यायाम से वजन कम होता और रक्तचाप, इन्सुलिन प्रतिरोध, ग्लूकोज का स्तर और कोलेस्ट्रोल का स्तर ठीक होता है। साथ ही मधुमेह की बीमारी से भी काफी हद तक बचा जा सकता है।

फ्री-रेडिकल, फैटी लिवर मधुमेह का बहुत बड़ा कारण: डॉ. मुकेश गुप्ता

हर वर्ष बड़ी संख्या मे मधुमेह के नए मरीज सामने आ रहे हैं। जिसमे युवा भी शामिल है भविष्य मे यह महामारी का रूप ले सकती है। मधुमेह का सबसे बड़ा कारण फ्री -रेडिकल एवं फैटी लिवर है। इन दोनों कारणों से मधुमेह लोगों को अपनी चपेट में तेजी से लेता है। इसलिए लोगों को इससे बचने के लिए अपनी दिनचर्या में सुधार करना होगा।

Updated : 2022-11-22T12:36:28+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top