Top
Home > स्वास्थ्य > प्रधानमंत्री मोदी के बर्थडे पर जानिए क्या है उनके स्वस्थ शरीर का राज

प्रधानमंत्री मोदी के बर्थडे पर जानिए क्या है उनके स्वस्थ शरीर का राज

प्रधानमंत्री मोदी के बर्थडे पर जानिए क्या है उनके स्वस्थ शरीर का राज

नई दिल्ली। देश के पीएम नरेंद्र मोदी आज मंगलवार को अपना 69वां जन्मदिन मना रहे हैं। लगातार सोशल मीडिया पर अपनी फिटनेस को लेकर चर्चा में बने रहने वाले पीएम मोदी अपनी फिटनेस पर खासा ध्यान देते हैं। आज इस खास मौके पर जानते हैं 'बॉडी फिट तो माइंड हिट' का संदेश लोगों को देने वाले मोदी की फिटनेस का खुद क्या हैं राज।

उनहत्तर साल में भी मोदी में गजब की चुस्ती और फुर्ती देखने को मिलती है। रोजाना 18 घंटे काम करने के बाद भी उनके चेहरे पर कभी कोई थकान नजर नहीं आती है। मोदी अपने कई इंटरव्यू में पहले भी बता चुके हैं कि वो पूरे दिन में 5 से 6 घंटों से ज्यादा की नींद नहीं लेते हैं। मोदी सुबह 4-5 बजे सोकर उठ जाते हैं। पीएम को दिन में सोना या बिस्तर पर लेटना तक पसंद नहीं है।

पीएम मोदी सुबह उठकर आधे घंटे योगासन, प्रणायाम जरूर करते हैं। सूर्य नमस्कार और प्राणायाम उनके दिनचर्या का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसके बाद वो करीब आधा घंटा रोजाना टहलने के लिए निकलते हैं। मोदी का मानना है कि उपवास रखने से व्यक्ति का शरीर स्वस्थ रहता है। शायद यही वजह है कि मोदी नवरात्री में पूरे 9 दिन तक व्रत रखते हैं।

पीएम मोदी को सुबह नाश्ते में हल्का-फुल्का खाना पसंद है। मोदी पर लिखी गई एंडी मरीनो की किताब 'नरेंद्र मोदी : अ पॉलिटिकल बायोग्राफी' की मानें तो मोदी ने सालों पहले ही खाने में नमक खाना छोड़ दिया था। धीरे-धीरे उन्होंने अपने खाने से मिर्च को भी हटा दिया। आज मोदी सिर्फ सादा खाना ही खाना पसंद करते हैं। वह अपने खाने में तेल या तेज मसालों को शामिल करने से परहेज करते हैं।

मौसम चाहे कोई भी हो लेकिन पीएम मोदी गुनगुना पानी ही पीना पसंद करते हैं। मोदी के रोज के भोजन में सलाद ज्यादा मात्रा में होता है।

मोदी के हेल्दी रहने की सबसे बड़ी वजह उनका शाकाहारी होना है। पीएम मोदी को खाने में गुजराती खाने के बाद दक्षिण भारतीय खाना पसंद है। वो दिन में कई बार लेकिन बेहद हल्का नाश्ता करते हैं ताकि शरीर पर थकान भी न छाए और शरीर में ताकत भी बनी रहे।

Updated : 17 Sep 2019 6:01 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top