Home > हेल्थ/लाइफ स्टाइल > सावधान! Mp में फिर बढ़ा डेंगू का आतंक, मिले 100 से अधिक मरीज, इससे बचने के लिए रखें इन बातों का ध्यान

सावधान! Mp में फिर बढ़ा डेंगू का आतंक, मिले 100 से अधिक मरीज, इससे बचने के लिए रखें इन बातों का ध्यान

Dengue: मध्य प्रदेश के अलग अलग हिस्सों से डेगूं के मरीज सामने आने लगे हैं। अस्पतालों में मरीजों की संख्या में इजाफ़ा होने लगा है। बता दें इसमें सबसे आगे मध्य प्रदेश की राजधानी इंदौर है।

सावधान! Mp में फिर बढ़ा डेंगू का आतंक, मिले 100 से अधिक मरीज, इससे बचने के लिए रखें इन बातों का ध्यान
X

Dengue Symptoms: ग्वालियर। मध्य प्रदेश में पूरी तरह से मानसून ने अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया। समूचे प्रदेश में जबरदस्त बारिश हो रही है। मगर इस भारी बारिश के दौर में डेंगू का भी खतरा मडराने लगा है। जैसे से बारिश बढ़ेगी डेंगू अपना पैर फैलाते जाएगा।

रिपोर्ट के मुताबिक, मध्य प्रदेश के अलग अलग हिस्सों से डेगूं के मरीज सामने आने लगे हैं। अस्पतालों में मरीजों की संख्या में इजाफ़ा होने लगा है। बता दें इसमें सबसे आगे मध्य प्रदेश की राजधानी इंदौर है। यहां डेंगू मरीजों का आंकड़ा 100 के पार पहुंच गया है। वहीं इस मामले में ग्वालियर भी पीछे नहीं है। अगर बीते 30 दिनों की बात करें तो करीब 28 डेंगू पॉजीटिव मामले सामने आए है।

हालांकि यह पहली बार ऐसा नहीं है जब डेंगू के मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। हर साल बारिश के मौसम में डेंगू के मामले में इजाफा हो जाता है। पिछले साल के अगस्त से लेकर अक्टूबर में जबरदस्त तरीके से डेंगू ने अपना कहर बरपाया था, उस वक्त ग्वालियर और इंदौर इन मामलों में सबसे आगे था।

कैसे फैलता है डेंगू

यह एक ऐसी बीमारी है जो केवल बरसात के मौसम में पनपती है और यह बीमारी हमेशा किसी जगह पर ठहरे हुए पानी में पैदा हुए मच्छरों के कारण होता है। जब बारिश रूकती है। तब किसी गड्ढे में पानी रूकता है और पानी रूकने के कारण यहां मच्छर अंडा देते है और फिर सिलसिला शुरू हो जाता है। बता दें कि डेंगू का लार्वा हल्के ठंड और गर्म मौसम के बीच पनपता है।

डेंगू से बचने के उपाय

डेंगू (हड्डी तोड़ बुखार) एक वायरल संक्रमण है जो मच्छरों से लोगों में फैलता है। डेंगू होने वाले अधिकांश लोगों में लक्षण नहीं होते। लेकिन जिन लोगों में लक्षण होते हैं, उनमें सबसे आम लक्षण तेज बुखार, सिरदर्द, शरीर में दर्द, मतली और दाने होते हैं। अधिकांश लोग 1-2 सप्ताह में ठीक हो जाते हैं। कुछ लोगों को गंभीर डेंगू हो जाता है और उन्हें अस्पताल में देखभाल की आवश्यकता होती है।

गंभीर मामलों में, डेंगू घातक हो सकता है। आप विशेष रूप से दिन के समय मच्छरों के काटने से बचकर डेंगू के अपने जोखिम को कम कर सकते हैं। डेंगू का इलाज दर्द निवारक दवा से किया जाता है क्योंकि वर्तमान में इसका कोई विशिष्ट उपचार नहीं है।

क्या होते हैं डेंगू में सिमटम

डेंगू से पीड़ित ज़्यादातर लोगों में हल्के या कोई लक्षण नहीं होते हैं और वे 1-2 हफ़्ते में ठीक हो जाते हैं। कभी-कभी, डेंगू गंभीर हो सकता है और मौत का कारण बन सकता है। अगर लक्षण दिखाई देते हैं, तो वे आमतौर पर संक्रमण के 4-10 दिन बाद शुरू होते हैं और 2-7 दिनों तक चलते हैं। लक्षणों में ये शामिल हो सकते हैं।

1.तेज़ बुखार (40°C/104°F)

2.गंभीर सिरदर्द

3.आँखों के पीछे दर्द

4.मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द

5.उल्टी

6.ग्रंथियों में सूजन

7. मच्छर के काटने से शरीर के कई हिस्सों पर उनके डंक से लाल काले रंग के दाग पड़ जाते है।

Updated : 6 July 2024 8:31 AM GMT
Tags:    
author-thhumb

Anurag Dubey

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Top