Top
Home > एक्सक्लूसिव > मध्यप्रदेश को नयी पहचान देगा चित्र भारती फिल्मोत्सव

मध्यप्रदेश को नयी पहचान देगा चित्र भारती फिल्मोत्सव

विवेक पाठक

मध्यप्रदेश को नयी पहचान देगा चित्र भारती फिल्मोत्सव
X

चित्र भारती फिल्म समारोह का मध्यप्रदेश में आयोजन आगामी फरवरी 2022 में होने जा रहा है। इस फिल्मोत्सव से मध्यप्रदेश में फिल्मों के लिए बेहतरीन वातावरण बनने की उम्मीद की जा रही है। स्थानीय कलाकारों से लेकर अभिनय जगत से जुड़े कर्मी इसे फिल्मों के प्रोत्साहन के लिए सार्थक मंच बता रहे हैं। इस उत्सव से फिल्मों में भारतीयता को बढ़ावा मिलने का वातावरण बनेगा।

भारतीय चित्र साधना भारत में फिल्मों के परिदृश्य को सार्थक दिशा देने के लिए निरंतर प्रयत्न कर रही है। इस संस्था द्वारा इसके लिए देश में प्रति दो वर्ष में फिल्म समारोह आयोजित किया जाता है। इंदौर से इस आयोजन की शुरुआत हुई। पहला समारोह इंदौर में जब आयोजित हुआ तो उसमें देश भर से कुछ मिनिट की शार्टस फिल्म बनाने वाले युवा फिल्मकारों को प्रोत्साहित किया गया। इसे आशातीत सफलता मिली और उसमें देश के अनेक स्थानों से युवा फिल्मकारों ने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। इंदौर की इस सार्थक शुरुआत के बाद नई दिल्ली में दूसरा फिल्म समारोह भी बेहतरीन रहा। इसमें भारतीयता से जुड़े हुए विषयों को लेकर फिल्मकार आगे आए। सबसे खास बात ये रही कि देश के अनेक सृजनशील युवाओं की इस मंच से खोज हुई। संकोच और झिझक खत्म होने के बाद मोबाइल और अपने छोटे कैमरे से वीरिडयो शूट करने वाले फिल्मकारों ने अपनी फिल्में प्रदर्शित कीं। सामाजिक जागरण, देशप्रेम, प्रेरक कहानियों से लेकर अनेक विषयों पर युवा फिल्मकारों ने कैमरे से अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। चित्र भारती फिल्म समारोह के जरिए इस तरह देश के इन नवोदित युवा फिल्मकारों एवं फिल्म लेखकों ने बताया कि किस तरह फिल्में न केवल मनोरंजन ही करती हैं बल्कि खेल खेल में वे सार्थक संदेश दे सकती हैं। फिल्मों के जरिए बहुत सी प्रेरक कहानियों को कैमरे के जरिए जन जन के सामने लाया जा सकता है। अच्छे विषय भी फिल्मों के जरिए लोगों के जेहन में उतारे जा सकते हैं।

इंदौर, नई दिल्ली के बाद अहमदाबाद फिल्म समरोह में भी इसी विचार को विस्तार मिला। इस समारोह में सुभाष घई जैसे मंजे हुए निर्देशक ने नए फिल्मकारों को बताया कि किस तरह कहानियों का कितना बड़ा महत्व है और हम अच्छी कहानियों फिल्म विद्या के जरिए देश के लोगों तक पहुंचा सकते हैं और उनका मानस बदल सकते हैं। इस फिल्म समारोह में प्रसून जोशी जी जैसे नामी फिल्म लेखक से युवाओं को काफी कुछ सीखने को मिला। इस समारोह में अब्बास मस्तान से लेकर फिल्म जगत के अनेक सफलम फिल्मकारों ने फिल्मों में भारतीयता को बढ़ाने के लिए हमने विचार रखे। चित्र भारती फिल्म समारोह का समाज में दृश्टि परिवर्तन का यह सिलसिला जारी है। इस बार फरवरी 2020 में हम भोपाल की झीलों के किनारे फिल्मों में भारतीयता के भाव को पोषित करेंगे। समारोह के लिए तैयारियों जारी है। समारोह की तैयारियां जारी हैं। हाल ही में राजा मानसिंह तोमर संगीत एवं कला विश्वविद्यालय में फिल्म समारोह के लिए पोस्टर जारी हो चुका है। इससे पूर्व नई दिल्ली में ड्रीमगर्ल हेमामालिनी ने चित्र भारती के इस फिल्म उत्सव के महत्व एवं इसके आयोजन की सार्थकता पर नई दिल्ली में अपनी बात रखी थी तो इंतजार कीजिए समय बीतने के साथ हम इस समारोह के जरिए फिल्मों में भारतीय के भाव को उजले रंगों के साथ मध्यप्रदेश में पोषित करेंगे।

Updated : 12 July 2021 9:20 AM GMT
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top