Top
Home > शिक्षा > कैरियर > यूपीएससी ने सिविल सेवा प्रीलिम्स परीक्षा और शेष इंटरव्यू को लेकर दिया यह बयान

यूपीएससी ने सिविल सेवा प्रीलिम्स परीक्षा और शेष इंटरव्यू को लेकर दिया यह बयान

यूपीएससी ने सिविल सेवा प्रीलिम्स परीक्षा और शेष इंटरव्यू को लेकर दिया यह बयान
X

नई दिल्ली। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने 31 मई को प्रस्तावित सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2020 को लेकर बयान जारी किया है। यूपीएससी ने कहा है कि मौजूदा स्थिति के चलते परीक्षा की तिथि में अगर कोई बदलाव किया जाता है तो इसकी सूचना यूपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट www.upsc.gov.in पर दे दी जाएगी। आयोग ने सिविल सेवा परीक्षा 2019 के शेष इंटरव्यू को लेकर कहा कि 3 मई को लॉकडाउन के दूसरे चरण के खत्म होने के बाद इनकी नई तिथियों पर फैसला लिया जाएगा।

यूपीएससी ने कोरोना वायरस महामारी फैलने से पैदा हुई स्थितियों की समीक्षा और भर्ती परीक्षाओं, इंटरव्यू, नोटिफिकेशन्स के नए शेड्यूल पर विचार-विमर्श करने के लिए बुधवार को बैठक की। बैठक के बाद यूपीएससी ने बयान जारी कर कहा, 'सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2020, इंजीनियरिंग सेवा मुख्य परीक्षा और जियोलॉजिस्ट सेवा मुख्य परीक्षाओं की तिथि पहले ही घोषित की जा चुकी है। अगर मौजूदा स्थितियों के कारण इन्हें री-शेड्यूल किया जाता है तो इसकी सूचना यूपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट www.upsc.gov.in पर दे दी जाएगी।'

यूपीएससी ने कहा, 'सिविल सेवा परीक्षा 2019 के शेष बचे इंटरव्यू की नई तारीखों को लेकर 3 मई 2020 के बाद फैसला होगा। कंबाइंड मेडिकल सर्विसेज एग्जाम, इंडियन इकोनॉमिक सर्विस और इंडियन स्टैस्टिकल सर्विस एग्जाम 2020 के स्थगित होने के नोटिस पहले ही जारी हो चुके हैं।'

यूपीएससी सीएपीएफ एग्जाम की तिथि की सूचना यूपीएससी की वेबसाइट पर दी जाएगी। राष्ट्रीय रक्षा अकादमी(एनडीए) और नौसेना अकादमी(एनए) की 19 अप्रैल को होने वाली परीक्षा भी स्थगित हो चुकी है। एनडीए-II को लेकर फैसला 10 जून 2020 को पोस्ट किया जाएगा जो कि इसके नोटिफिकेशन जारी होने की प्रस्तावित डेट है। आयोग ने कहा है कि परीक्षाओं, इंटरव्यू समेत अन्य सभी फैसले वेबसाइट www.upsc.gov.in पर देखे जा सकेंगे।

यूपीएससी सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2020 के लिए आवेदन की प्रक्रिया 12 फरवरी से 3 मार्च तक चली थी। इस परीक्षा के माध्यम से भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस), भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) और भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) सहित अन्य अखिल भारतीय सेवाओं के लिए अफसरों का चयन किया जाएगा। इसके जरिए कुल 796 भर्तियां होंगी। इनमें 24 रिक्तियां दिव्यांगों के लिए आरक्षित हैं। यूपीएससी सिविल सेवा के जरिए इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विसेज (आईएएस), भारतीय पुलिस सर्विसेज (आईपीएस) और भारतीय फॉरेन सर्विसेज (आईएफएस), रेलवे ग्रुप ए (इंडियन रेलवे अकाउंट्स सर्विस), इंडियन पोस्टल सर्विसेज, भारतीय डाक सेवा, इंडियन ट्रेड सर्विसेज सहित अन्य सेवाओं के लिए चयन किया जाता है।

कोरोना वायरस से जंग में संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) के चेयरमैन और सदस्यों ने स्वैच्छिक तौर पर एक वर्ष तक अपनी बेसिक सैलरी में 30 फीसदी की कटौती करने का फैसला किया है। यूपीएससी ने बुधवार को कहा, 'राष्ट्रीय स्तर पर वित्तीय संसाधनों के संरक्षण की जरूरत को ध्यान में रखते हुए यूपीएससी के चेयरमैन और सदस्यों ने स्वैच्छिक तौर पर एक वर्ष तक उन्हें आयोग की तरफ से मिलने वाली बेसिक सैलरी में 30 फीसदी कटौती करने का फैसला लिया है। ये अप्रैल, 2020 से लागू होगा।' इसके अलावा यूपीएससी के सभी अधिकारी और स्टाफ कर्मचारी भी प्रधानमंत्री राहत कोष में एक दिन की सैलरी देंगे।

Updated : 15 April 2020 3:29 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top