Top
Home > शिक्षा > कैरियर > एम शिक्षा मित्र एप से लगेगी उपस्थिति, सुधरेगा पढ़ाई का स्तर

एम शिक्षा मित्र एप से लगेगी उपस्थिति, सुधरेगा पढ़ाई का स्तर

शिक्षकों को दिया गया प्रशिक्षण

एम शिक्षा मित्र एप से लगेगी उपस्थिति, सुधरेगा पढ़ाई का स्तर
X

भितरवार। विकासखंड अंतर्गत समस्त शासकीय प्राथमिक एवं माध्यमिक शालाओं में पदस्थ शिक्षकों को जनपद शिक्षा केंद्र बीआरसी कार्यालय पर प्रोजेक्टर की सहायता से प्रशिक्षण दिया गया। जिसमें बीआरसीसी अनवर खान ने बताया कि एम शिक्षा मित्र एप पर प्रतिदिन विकासखंड के समस्त शिक्षक सुबह 10.30 बजे शाला में पहुंचकर अपनी उपस्थिति ऑनलाइन दर्ज कराएंगे एवं शाम 4.30 बजे शाला से वापसी में भी उपस्थिति लगाएंगे।

श्री खान ने बताया कि इसी एप की उपस्थिति के आधार पर अब शिक्षा विभाग के सभी शिक्षकों, कर्मचारियों, अधिकारियों, भृत्य, लेखापाल, कंप्यूटर ऑपरेटरों आदि की उपस्थिति पोर्टल से प्रमाणित होगी। जिसके आधार पर वेतन आहरित होगा। बीआरसी श्री खान ने इस एप के उपयोग से होने वाले लाभ के बारे में बताते हुए कहा कि इस एप के द्वारा प्रतिदिन शाला में बच्चों की उपस्थिति दर्ज होगी, तथा बच्चों की ऑनलाइन उपस्थिति के आधार पर ही मध्यान्ह भोजन की राशि एवं खाद्यान्न उपलब्ध होगा, इससे नामांकन एवं ठहराव में वृद्धि होगी। ड्रॉपआउट व पलायन की दर में कमी आएगी। ग्रामीणों द्वारा आए दिन स्कूलों से संबंधित आने वाली शिकायतों में कमी आएगी। हेल्पलाइन 181 पर शिकायतों की संख्या घटेगी। इस एप के सफल क्रियांवयन से शिक्षा की गुणवत्ता में निखार आएगी। एक प्रतिशत लापरवाह कर्मचारियों व शिक्षकों के कारण शिक्षकों की गरिमा पर समाज के द्वारा जो प्रश्नचिन्ह लगने लगा था, अब इस एप के क्रियांवयन से आदर्श समर्पित शिक्षकों की समाज में पुन: गरिमा व प्रतिष्ठा बढ़ेगी। विद्यालय में बच्चों का ठहराव बढ़ेगा और बच्चों में रचनात्मकता आएगी। कर्मचारियों को किसी भी प्रकार का अवकाश स्वीकृत कराने के लिए कार्यालयों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। एम शिक्षा मित्र एप में एक ओर जहां शिक्षकों एवं छात्रों की उपस्थिति दर्ज होगी, वहीं शिक्षकों की वेतन पर्ची, स्कूल ग्रांट, शिक्षकों की जानकारी, सेवा पुस्तिका, अवकाश आवेदन, छात्र प्रोफाइल, मैपिंग वरिष्ट कार्यालय से समय समय पर प्राप्त कर आदि सभी जानकारियां पोर्टल पर इस एप पर उपलब्ध होंगी। किसी कर्मचारी की कोई समस्या है तो उसके लिए इसी एप पर ऑनलाइन शिकायत दर्ज करने की सुविधा है। बीआरसी श्री खान ने बताया कि विकासखंड के 270 प्राथमिक विद्यालय, 114 माध्यमिक विद्यालय, 13 हाईस्कूल, आठ हायर सेकंडरी सहित समस्त 415 शासकीय शालाओं में 20 जुलाई से सभी शिक्षक-शिक्षिका अपनी उपस्थिति इस एम.शिक्षा मित्र एप के माध्यम से ही अनिवार्य तौर पर लगाएंगे। इस अवसर पर बीएसी, सीएसी सहित शिक्षक उपस्थित थे।

Updated : 2018-07-18T16:31:35+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top