Latest News
Home > शिक्षा > कैरियर > साज-सज्जा का है शौक तो बनाए इंटीरियर डिजाइनिंग में करियर

साज-सज्जा का है शौक तो बनाए इंटीरियर डिजाइनिंग में करियर

साज-सज्जा का है शौक तो बनाए इंटीरियर डिजाइनिंग में करियर
X

वेबडेसक। साज-सज्जा और सजावट करना हर किसी को पसंद होता है। चाहे वह घर हो या ऑफिस सजावट लोगों को अपनी और आकर्षित करती है।यदि आपको भी सजावट का शौक है और 12वीं के बाद करियर ऑप्शन की तलाश कर रहे है तो बता दे की इंटिरयर डेकोरेशन आपके लिए बेहतर विकल्प हो सकता है।

क्या है इंटीरियर डेकोरेशन -

इंटीरियर डेकोरेशन या डिजाइनिंग का अर्थ किसी के घर, फ्लेट, दूकान, शोरूम, ऑफिस आदि को अंदरूनी रूप से क्लाइंट के कार्य और इच्छा के अनुसार आकर्षक बनाना होता है।इस काम को करने वाले को इंटीरियर डेकोरेटर या डिजायनर कहा जाता है।वर्तमान समय में इस क्षेत्र में रोजगार के बेह्तरीम विकल्प उपलब्ध है। आप बड़ी कंपनी में नौकरी और शानदार पैकेज पाने के साथ अपना खुद का व्यवसाय भी कर सकते है।

इंटीरियर डेकोरेशन कोर्स -

ये एक प्रोफेशनल कोर्स होता है। जिसे आप 12वीं, ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद कभी भी कर सकते है। देश के विभिन्न शिक्षण संस्थान इंटीरियर डिजाइनिंग के डिप्लोमा कोर्स, डिग्री कोर्स या सर्टिफिकेट कोर्स कराते है। इंटीरियर डिजाइनिंग लिए एक से लेकर तीन साल के अलग- अलग कोर्सेज होते हैं।

जो निम्न प्रकार है -

  • पीजी डिप्लोमा इन इंटीरियर डिज़ाइन एंड डेकोरेशन
  • कोर्स का समय - 1 वर्ष
  • डिप्लोमा इन इंटीरियर डिज़ाइन
  • कोर्स का समय - 2 वर्ष
  • कोर्स का नाम - बैचलर ऑफ़ आर्किटेक्चर
  • कोर्स का समय - 3 वर्ष
  • बीएससी इन इंटीरियर डिज़ाइन
  • कोर्स का समय - 3 वर्ष

इंटीरियर डिजाइनर कोर्स के लिए प्रमुख संस्थान -

  • स्कूल ऑफ़ इंटीरियर डिज़ाइन, अहमदाबाद
  • जे.जे. स्कूल ऑफ़ आर्ट्स. मुंबई
  • निर्मला निकेतन, न्यू मरीन लाइन्स, मुंबई
  • सोफ़िया कॉलेज बी. के. सोमानी पॉलिटेक्निक, मुंबई
  • एसएनडीटी वुमन्स यूनिवर्सिटी, मुंबई

वेतन एवं आय -

कोर्स पूरा करने के बाद आप किसी कंपनी में डेकोरेटर के पद पर काम कर सकते हैं, इसके अलावा किसी आर्किटेक्चरल फर्म, स्टूडियो और थिएटर, एग्ज़िबिशन ऑर्गनाइज़र और इवेंट प्लानर जैसी कंपनी में जुड़ कर उनके साथ काम कर सकते हैं। शुरूआती दिनों में फ्रेशर्स को लगभग 10,000 रुपये वेतन मिलता है। एक से दो वर्ष के अनुभव के बाद मासिक वेतन चेक 30, 000 रुपये से 75,000 रुपये तक हो सकता है। आप स्वयं का व्यवसाय भी शुरू कर सकते है, लेकिन इसके लिए आपको कम से कम तीन वर्ष का इंडस्ट्री में काम करने का अनुभव होना चाहिए।


Updated : 5 Aug 2022 7:53 AM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top