Top
Home > शिक्षा > कैरियर > अब दूरदर्शन पर 20 अप्रैल से होगी हाईस्कूल के बच्चों की पढ़ाई

अब दूरदर्शन पर 20 अप्रैल से होगी हाईस्कूल के बच्चों की पढ़ाई

-एक घंटे के कार्यक्रम में नौवीं व दसवीं के लिए शिड्यूल जारी

अब दूरदर्शन पर 20 अप्रैल से होगी हाईस्कूल के बच्चों की पढ़ाई
X

नई दिल्ली। देश में कोरोना संकट को ले लागू लॉकडाउन के बीच बच्चों को घरों में रहते हुए उनकी पढ़ाई जारी रखने के लिए शिक्षा विभाग डीडी बिहार पर पढ़ाई शुरू करेगी। डीडी बिहार पर पठन-पाठन के लिए एक घंटे का क्लास 20 अप्रैल से शुरू होगा। दूरदर्शन के बिहार चैनल से जुड़े डीटीएच पर इसका सीधा प्रसारण होगा। इसमें सुबह 11 बजे से 12 बजे तक एक घंटे का क्लास चलेगा। जिसमें विभिन्न डीटीएच प्लेटफॉर्म पर पाठ्यक्रमों का सीधा प्रसारण किया जाएगा। इसमें कक्षा नौवीं व दसवीं के पाठ्यक्रमों के अनुरूप कोर्स मैटेरियल हिन्दी के सरल भाषा में दिया जाएगा। ताकि छात्र-छात्राओं को अपने कोर्स, विषय व स्टडी मैटेरियल को समझने में कठिनाई नहीं होगी। विदित हो कि लॉकडाउन अवधि को देख सीबीएसई व आईसीएसई बोर्ड ने ऑनलाइन पढ़ाई की सुविधा विद्यालयों से शुरू की है। सरकारी स्कूलों के बच्चों को भी ऑनलाइन पढ़ाई के लिए एप जारी की गई है। लेकिन सरकारी स्कूलों में नामांकित अधिकांश बच्चों या उनके अभिभावकों के पास एंड्रॉयड मोबाइल उपलब्ध नहीं होने व जानकारी नहीं होने से उनकी पढ़ाई बाधित हो रही थी। डीडी बिहार डीटीएच सहित तमाम केबल नेटवर्क पर फ्री में उपलब्ध है। जो गांव-देहात के लोगों के घरों में आसानी से उपलब्ध है।

हाई स्कूलों में नामांकित बच्चों के लिए पूर्व से चार एप भी जारी किए गए हैं। जिन बच्चों या उनके अभिभावकों के पास एंड्रॉयड मोबाइल की सुविधा हैं। वे इन एप का सहारा ले पढ़ाई कर सकते हैं। इन एप में मेरा विद्यालय मेरा मोबाइल, दीक्षा एप, जूम एप व वाट्सएप ग्रुप बनाकर भी पठन-पाठन जारी रखने का निर्देश दिया गया है। जिले के मॉडल हाई स्कूलों के प्रधानाध्यापकों व उन्नयन कक्षा संचालित होने वाले विद्यालयों में उन्नयन एप व वाट्सएप ग्रुप के माध्यम से कक्षा नौवी से 12 वीं तक की पढ़ाई जारी रखने का निर्देश नोडल शिक्षकों के समन्वय से चलाने का दिया गया है। ऑनलाइन क्लास व डीडी बिहार पर प्रसारित होने वाली कक्षाओं की मॉनिटरिंग डीपीओ व बीईओ के स्तर से की जाएगी। प्रतिदिन कितने छात्रों ने क्लास किया, इसकी रिपोर्ट भी मुख्यालय को भेजनी है।

Updated : 19 April 2020 11:58 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top