Top
Home > शिक्षा > कैरियर > सीबीएसई : अब 15 हजार केंद्रों पर होगी परीक्षा

सीबीएसई : अब 15 हजार केंद्रों पर होगी परीक्षा

सीबीएसई : अब 15 हजार केंद्रों पर होगी परीक्षा

दिल्ली। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने 1 जुलाई से 15 जुलाई के बीच सोशल डिस्टेंसिंग के साथ शेष परीक्षाएं आयोजित करने के लिए कमर कस ली है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने सोमवार को ट्वीट कर बताया कि सोशल डिस्टेंसिंग के साथ एग्जाम कराने के लिए सीबीएसई ने 12000 परीक्षा केंद्र बढ़ाए हैं। पहले 3000 परीक्षा केंद्र चिह्नित थे, अब इसे बढ़ाकर 15000 कर दिया गया है। इसके अलावा स्टूडेंट्स बाहरी परीक्षा केंद्रों की बजाय अपने ही स्कूल में शेष बची परीक्षाएं देंगे। आमतौर पर सीबीएसई पारदर्शिता बनाए रखने के लिए बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन छात्रों के अपने स्कूलों में नहीं, बल्कि अन्य स्कूलों में करता है।

केंद्रीय मंत्री ने यह भी कहा कि परीक्षा तिथियां जारी होने से छात्र अब स्थिर रणनीति बनाकर तैयारी कर सकते हैं। परीक्षाएं सोशल डिस्टेंसिंग से कैसे हों, यातायात की व्यवस्था एवं समय का प्रबंधन कैसे हो, इसके लिए हमने उच्च शिक्षा में यूजीसी के नेतृत्व में एक टास्क फोर्स गठित की है। स्कूली शिक्षा में हमने ये काम एनसीईआरटी को दिया था। हम जल्द ही उसे भी घोषित करेंगे।

इससे पहले रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा था कि मंत्रालय की योजना जुलाई अंत तक रिजल्ट ( CBSE 10th 12th Result 2020 ) जारी करने की है। सीबीएसई 10वीं 12वीं के उन पेपरों की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन शुरू हो चुका हैं जो हो चुके हैं।

परीक्षाएं 1 जुलाई से 15 जुलाई के बीच आयोजित होंगी। सीबीएसई ने डेटशीट जारी करने के साथ यह भी कहा है कि परिजन सुनिश्चित करें कि उनका बच्चा बीमार न हो। अभ्यर्थियों को सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा। इसके अलावा विद्यार्थियों को परीक्षा केंद्र पर मास्क पहनकर व अपना सैनेटाइजर लेकर आना होगा।

सीबीएसई 12वीं के उन पेपरों की बात करें जो पूरे भारत के छात्रों को देने होंगे तो उनका होम साइंस का पेपर 1 जुलाई को, हिन्दी इलेक्टिव/हिन्दी कोर का पेपर 2 जुलाई, इंफार्मेशन प्रैक्टिस(ओेल्ड)/इंफार्मेशन प्रैक्टिस (न्यू)/इंफार्मेशन टेक्नोलॉजी/कंप्यूटर साइंस न्यू व ओल्ड का पेपर 7 जुलाई को, बिजनेस स्टडीज 9 जुलाई, बायोटेक्नोलॉजी 10 जुलाई, ज्योग्राफी 11 जुलाई, सोशोलॉजी 13 जुलाई को होगा।

परीक्षा में बैठने के लिए सीबीएसई ने बनाए ये नियम-

-सभी छात्रों को एक पारदर्शी बोतल में अपना खुद का हैंड सैनिटाइजर लेकर जाना होगा।

-सभी छात्रों को मास्क या कपड़े से अपनी नाक व मुंह को ढंकना होगा।

-सभी छात्रों को फिजिकल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा।

-पेरेंट्स को अपने बच्चों को बताना होगा कि कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए वे क्या सावधानियां बरतें।

-पेरेंट्स को यह सुनिश्चित करना होगा कि उनका बच्चा बीमार नहीं हो।

-परीक्षा देते समय छात्रों को सभी निर्देशों का सख्ती से पालन करना होगा।

-एडमिट कार्ड में लिखे सभी निर्देशों का छात्रों को पालन करना होगा।

-परीक्षा की समयावधि डेटशीट और एडमिट कार्ड में लिखी होगी।

-उत्तरपुस्तिका सुबह 10.00 बजे से 10.15 बजे के बीच बांटी जाएंगी।

-प्रश्नपत्र सुबह में 10.15 बजे बांटे जाएंगे।

-15 मिनट का समय प्रश्नपत्र पढ़ने का होगा । 10.15 बजे से लेकर 10.30 बजे तक छात्रों को प्रश्नपत्र पढ़ने के लिए होगा।

-10.30 बजे से छात्र प्रश्नों का उत्तर लिखना शुरू करेंगे।

आपको बता दें कि लॉकडाउन के चलते 10वीं 12वीं के कुल 83 विषयों की परीक्षाएं बीच में स्थगित करनी पड़ी थीं। जिसके बाद सीबीएसई ने फैसला लिया था कि इनमें से अब 29 मुख्य विषयों की ही परीक्षाएं कराई जाएंगी। ये वो पेपर हैं जो अगली क्लास में प्रमोट होने और स्नातक कोर्स में एडमिशन लेने के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं।

पूरे देश में नहीं, सिर्फ उत्तर पूर्वी दिल्ली में होगी सीबीएसई 10वीं परीक्षा

उत्तर पूर्वी दिल्ली में दंगों के कारण 10वीं की परीक्षा कुछ सेंटरों पर नहीं हो पाई थी। ऐसे में सिर्फ उन छात्रों के लिए 10वीं की परीक्षा होगी जो उत्तर पूर्वी दिल्ली हिंसा के कारण परीक्षा नहीं दे पाए थे। उत्तर पूर्वी दिल्ली में 10वीं के छात्रों को अभी इन 6 विषयों हिंदी कोर ए, हिंदी कोर बी, इंग्लिश कॉमन, इंग्लिश लैंग्वेज एंड लिटरेचर, साइंस, सोशल साइंस की परीक्षा देनी होगी।

Updated : 25 May 2020 9:20 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top