Top
Home > शिक्षा > कैरियर > बिहार 10th Result हुआ जारी, 81 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास

बिहार 10th Result हुआ जारी, 81 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास

बिहार 10th Result हुआ जारी, 81 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास
X

पटना। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा जारी आज मैट्रिक की परीक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया गया है। मैट्रिक की परीक्षा का रिजल्ट खुद बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्नंदन वर्मा द्वारा दोपहर 12:30 बजे जारी किया गया। बिहार बोर्ड 10वीं रिजल्ट वेबसाइट onlinebseb.in और biharboardonline.com पर जारी किया गया है। इन वेबसाइट्स के अलावा स्टूडेंट्स थर्ड पार्टी वेबसाइट indiaresults.com और Examresults.net पर भी रिजल्ट चेक कर सकते हैं। स्टूडेंट्स को सलाह दी जाती है कि वे ऑफिशियल वेबसाइट या ऊपर दी गई थर्ड पार्टी वेबसाइट पर ही रिजल्ट देखें क्योंकि कई फर्जी वेबसाइट्स फर्जी रिजल्ट प्रकाशित कर सकती हैं। शनिवार को ऐसा ही हुआ था, एक फर्जी वेबसाइट पर फर्जी रिजल्ट जारी किया गया। रिजल्ट आने की खबर मिलते ही छात्रों ने धड़ाधड़ अपना रिजल्ट देखना शुरू किया। थोड़ी ही देर में उनको हकीकत का पता चल गया। स्टूडेंट्स को यह सलाह दी जाती है कि वे ऑफिशियल वेबसाइट पर दिए गए रिजल्ट पर ही भरोसा करें और रिजल्ट से जुड़े हर अपडेट के लिए एनबीटी के साथ जुड़े रहे हैं।

लाइव अपडेट

-हिमांशु राज ने 481 अंकों के साथ मैट्रिक की परीक्षा में टॉप किया है। उन्होंने 96.20 फीसदी अंक हासिल किए हैं।

-बिहार बोर्ड मैट्रिक परीक्षा के रिजल्ट से पहले वेबसाइट ने काम करना बंद कर दिया है।

-रिजल्ट का इंतजार अब खत्म, 10 मिनट में जारी होगा मैट्रिक रिजल्ट....

-बिहार बोर्ड 10वीं का रिजल्ट सबसे पहले जारी करने वाला देश का दूसरा बोर्ड बनने वाला है। इससे पहले मिजोरम 10वीं क्लास का रिजल्ट जारी कर चुका है।

-अगर कोई छात्र कुल 75 प्रतिशत अंक (एग्रीगेट) हासिल करता है और किसी एक विषय में 10 प्रतिशत से कम नंबर से फेल हो जाता है तो उसे पास घोषित कर दिया जाता है।

-इस बार कोरोना वायरस और लॉकडाउन के कारण बिहार बोर्ड ने 10वीं के 100 छात्रों का फिजिकल वेरिफिकेशन व्हॉट्सएप के जरिए किया है। इन 100 की उत्तर पुस्तिकाओं का दोबारा मूल्यांकन भी किया गया है। इसके लिए संबंधित जिलों से स्टूडेंट्स की कॉपियां पटना मंगवाई गई थीं। जाहिर है इन्हीं 100 छात्र-छात्राओं में से टॉपर्स चुने जाएंगे। अब कहा जा रहा है कि इस बार बिहार बोर्ड टॉप 10 की सूची में ज्यादा स्टूडेंट्स होंगे। कई छात्र-छात्राओं के अंक बराबर हो सकते हैं। ऐसे में एक स्थान पर एक से ज्यादा स्टूडेंट्स सूची में शामिल होंगे। पिछली बार भी बिहार बोर्ड 10वीं टॉप 10 में 18 स्टूडेंट्स थे। टॉप 1, 2, 3 में एक-एक स्टूडेंट था।

-बस एक घंटे का इंतजार, अब से एक घंटे बाद बिहार बोर्ड मैट्रिक की परीक्षा का रिजल्ट जारी कर देगा। बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्नंदन वर्मा रिजल्ट की घोषणा करेंगे। इस बार कोई प्रेस कांफ्रेंस नहीं होगी।

टॉप 10 लिस्ट (2019)

टॉप 1 - सावन राज भारती - 486 नंबर

टॉप 2 - रौनित राज - 483 नंबर

टॉप 3 - प्रियांशु राज - 481 नंबर

टॉप 4 - आदर्श रंजन- 480 नंबर

टॉप 4 - आदित्य रॉय - 480 नंबर

टॉप 4 - प्रवीण प्रखर- 480 नंबर

टॉप 5 - हर्ष कुमार- 479 नंबर

टॉप 5- रौशन कुमार- 479 नंबर

टॉप 6- अंकेश कुमार - 478 नंबर

टॉप 7- अभिनव कुमार- 477 नंबर

टॉप 7- पीयूष कुमार - 477 नंबर

टॉप 8- अमित कुमार- 476 नंबर

टॉप 8- अमन - 476 नंबर

टॉप 9- चंचल कुमार - 475 नंबर

टॉप 9- राम कुमार सिंह- 475 नंबर

टॉप 10- मो. सैफ आलम - 474 नंबर

टॉप 10- मो. शकील- 474 नंबर

टॉप 10- रोशन कुमार - 474 नंबर

पिछले साल 16,35,070 छात्रों ने परीक्षा में हिस्सा लिया था। इसमें से 808732 छात्र और 826334 छात्राएं शामिल थीं। पिछले साल बिहार बोर्ड कक्षा 10वीं के परिणाम में 80.73 फीसदी छात्र पास हुए थे। जिसमें सिमुलतला आवासीय विद्यालय के छात्र सावन राज भारती ने पहला स्थान हासिल किया था। सावन राज भारती को 97.2 फीसदी अंक मिले थे।

इस बार रिजल्ट 85 फीसदी से अधिक हो सकता है। पिछली बार 80.73 फीसदी रिजल्ट रहा था। इस बार रिजल्ट में छात्रों को 20 फीसदी अतिरिक्त विकल्प वाले प्रश्नों का फायदा होगा। इससे रिजल्ट का पास प्रतिशत बढ़ सकता है।

कई वेबसाइट्स पर दावा किया जा रहा है कि रिजल्ट SMS भेज कर भी चेक किया जा सकता है। ऐसा कहा जा रहा बै कि एसएमएस भेजकर बिहार बोर्ड का रिजल्ट पाने के लिए छात्रों को BSEB10 -space- ROLL NUMBER टाइप करके 56263 पर भेजना होगा। बता दें कि ये नंबर बोर्ड का नहीं है। बिहार बोर्ड ने कहा कि ये नंबर वायरल हो रहा है लेकिन ये हमारा नंबर नहीं है।

बिहार बोर्ड ने रिजल्ट जारी करने की सभी तैयारी पूरी कर ली हैं, अब बस कुछ घंटों का इंतजार और है, फिर 15 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स अपना रिजल्ट चेक कर सकेंगे।

अभी की प्रक्रिया के मुताबिक कॉपियां चेक होने के बाद सभी 38 जिलों से टॉपर्स की कॉपियां मंगाई जाती हैं और उनकी दोबारा चेकिंग की जाती है। इसके बाद टॉपर्स का वेरिफिकेशन भी इंटरव्यू के जरिए किया जाता है। यह इंटरव्यू शारीरिक उपलब्धता के आधार पर होता है लेकिन इस बार कोरोना वायरस के कारण ऐसा नहीं हो पाया तो वीडियो कॉलिंग के माध्यम से ही इंटरव्यू लिया गया।

पिछले साल 10वीं में टॉप 10 में 2 स्टूडेंट्स को छोड़कर सभी स्टूडेंट्स सिमुलतला आवासीय विद्यालय के थे। अब यह देखना होगा कि हर साल की तरह इस बार भी सिमुलतला आवासीय विद्यालय अपना दबदबा कायम रख पाता है या नहीं। बता दें कि सिमुलतला आवासीय विद्यालय को टॉपर्स की फैक्ट्री भी कहा जाता है।

बिहार बोर्ड 10वीं क्लास का एग्जाम 17 से 24 फरवरी तक हुआ था। करीब 15 लाख विद्यार्थियों ने बिहार बोर्ड की 10वीं क्लास की परीक्षा दी थी। कॉपियों के मूल्यांकन की प्रक्रिया कोरोनावायरस संक्रमण की वजह से हुए लॉकडाउन को देखते हुए टाल दी गई थी। कॉपियों के मूल्यांकन का काम 6 मई से दोबारा शुरू हुआ और पिछले हफ्ते समाप्त हुआ। पिछले साल बिहार बोर्ड 10वीं क्लास का पास पर्सेंटज 80.73 फीसदी था।

अब बिहार बोर्ड के इंटरमीडिएट के छात्र अपनी कॉपियों की रीचेकिंग के लिए 03 जून तक आवेदन कर सकते हैं। पहले उत्तरपुस्तिकाओं की स्क्रुटिनी या कॉपियों की रीचेकिंग के लिए ऑनलाइन आवेदन का समय 08 मई से 25 मई तक था। लेकिन छात्रों के हित में इसे बढ़ा दिया गया है। यह जानकारी बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने दी है।

बिहार बोर्ड ने ग्रेस मार्क्स देने की नीति अपना रखी है। अगर कोई स्टूडेंट किसी एक विषय में 8 फीसदी या इससे कम नंबर या दो विषयों में 4-4 फीसदी व उससे कम नंबर से फेल हो जाता है तो उसे ग्रेस नंबर देकर अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया जाता है। वहीं अगर कोई स्टूडेंट कुल 75 फीसदी नंबर (एग्रीगेट) हासिल करता है और किसी एक विषय में 10 फीसदी से कम नंबर से फेल हो जाता है तो उसे पास घोषित कर दिया जाता है।

BSEB के अध्यक्ष आनंद किशोर ने नवभारत टाइम्स को बताय़ा 24 मार्च को बिहार बोर्ड ने इंटर का रिजल्ट जारी कर दिया था। बोर्ड की योजना कुछ ही दिनों बाद मैट्रिक का रिजल्ट जारी करने की थी। लेकिन कोरोना वायरस महामारी और लॉकडाउन के चलते 31 मार्च के बाद से मूल्यांकन कार्य बाधित रहा। 6 मई से मूल्यांकन कार्य फिर से शुरू किया गया। सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए बिहार बोर्ड ने शिक्षकों से उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन करवाया। 6 मई तक मूल्यांकन का 75 प्रतिशत कार्य पूरा हो चुका था। बाकी के मूल्यांकन कार्य को पूरा करने के बाद बोर्ड अब रिजल्ट जारी करने के लिए तैयार है।


Updated : 26 May 2020 7:44 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top