Latest News
Home > अर्थव्यवस्था > शेयर समीक्षा : सप्ताह के अंत में मजबूत हुआ बाजार, बैंक इंडेक्स में 4 प्रतिशत की बढ़त

शेयर समीक्षा : सप्ताह के अंत में मजबूत हुआ बाजार, बैंक इंडेक्स में 4 प्रतिशत की बढ़त

शेयर समीक्षा : सप्ताह के अंत में मजबूत हुआ बाजार, बैंक इंडेक्स में 4 प्रतिशत की बढ़त
X

मुंबई। शुक्रवार को खत्म हुए कारोबारी सप्ताह के दौरान लगातार उतार-चढ़ाव का सामना करने के बावजूद भारतीय शेयर बाजार लगातार दूसरे हफ्ते मजबूती के साथ बंद होने में सफल रहा। इस कारोबारी सप्ताह में शुरुआती 3 दिन दबाव वाले रहे। इन तीनों दिन मजबूती के साथ कारोबार की शुरुआत करने के बावजूद शेयर बाजार ने गिरावट के साथ कारोबार का अंत किया, लेकिन सप्ताह के आखिरी 2 दिनों में बाजार में जबरदस्त तेजी का रुख रहा। इसकी वजह से शुरुआती 3 दिनों के दौरान हुए नुकसान की पूरी भरपाई तो हो ही गई, बाजार ने साप्ताहिक कारोबार में बढ़त की स्थिति भी बना ली।

शेयर बाजार के जानकारों का मानना है कि फ्यूचर एंड ऑप्शन की एक्सपायरी और विदेशी संस्थागत निवेशकों की बिकवाली में कमी आने के साथ ही अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व के बैठक से छन कर निकली बातों के बाजार के अनुकूल रहने की वजह से पूरी दुनिया के शेयर बाजारों में सपोर्ट की स्थिति बनी है। भारतीय शेयर बाजार भी इन्हीं वजहों से लगातार दूसरे सप्ताह मजबूती के साथ बंद होने में सफल रहा है। शुक्रवार को खत्म हुए सप्ताह के दौरान बीएसई का सेंसेक्स साप्ताहिक कारोबार के लिहाज से 558.27 अंक यानी 1.02 प्रतिशत की बढ़त के साथ 54884.66 अंक के स्तर पर बंद हुआ। इसी तरह एनएसई का निफ्टी साप्ताहिक कारोबार के लिहाज से 86.30 अंक यानी 0.53 प्रतिशत की मजबूती के साथ 16,352.45 अंक के स्तर पर बंद हुआ।

एनएमडीसी के शेयरों में 10 से 18 प्रतिशत तक की गिरावट

23 से 27 मई तक के इस कारोबारी सप्ताह में बीएसई का लार्ज कैप इंडेक्स सपाट चाल के साथ बंद हुआ। सप्ताह के इन 5 दिनों के कारोबार में डिवीज लैबोरेट्रीज, टाटा स्टील, ओएनजीसी, पिरामल एंटरप्राइजेज और एनएमडीसी के शेयरों में 10 से 18 प्रतिशत तक की गिरावट दर्ज की गई। दूसरी ओर कोटक महिंद्रा बैंक, एचडीएफसी लाइफ इंश्योरेंस कंपनी, वन-97 कम्युनिकेशंस (पेटीएम), इंटरग्लोब एवियशन और जोमैटो जैसे लार्ज कैप इंडेक्स के शेयर खरीदारी के सपोर्ट से टॉप गेनर्स की सूची में शामिल हुए।

ये ब्रांड बने लूजर -

इसी तरह बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का मिड कैप इंडेक्स भी पूरे सप्ताह के कारोबार के बाद सपाट चाल के साथ ही बंद हुआ। इस इंडेक्स में शामिल कंटेनर कारपोरेशन ऑफ इंडिया, अशोक लीलैंड, टॉरेंट फार्मास्यूटिकल्स, गोदरेज इंडस्ट्रीज, जूबिलेंट फूड वर्क्स और बेयर क्रॉप साइंस के शेयरों ने खरीदारी के सपोर्ट से अच्छा मुनाफा अर्जित किया और टॉप गैनर्स की सूची में शामिल हुए। दूसरी ओर अमरा राजा बैट्रीज, स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड, ऑयल इंडिया लिमिटेड, जिंदल स्टील एंड पावर और आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज के शेयर बिकवाली के दबाव में फंसकर टॉप लूजर की सूची में शामिल होकर बंद हुए।

स्मॉल कैप इंडेक्स में 2.7 प्रतिशत की गिरावट

लार्ज कैप और मिड कैप के विपरीत बीएसई का स्मॉल कैप इंडेक्स 2.7 प्रतिशत की गिरावट के साथ बंद हुआ। इस इंडेक्स में ओवरऑल गिरावट होने के बावजूद इसमें शामिल कुछ शेयरों मे बढ़त भी दर्ज की गई। ऐसे शेयरों में लूमैक्स इंडस्ट्रीज, स्टर्लिंग टूल्स, बैनको प्रोडक्ट्स (इंडिया) और एंटनी वेस्ट हैंडलिंग सेल जैसी कंपनियों के शेयर का नाम लिया जा सकता है। दूसरी ओर गोदावरी पावर एंड इस्पात, रूपा एंड कंपनी, फ्यूचर रिटेल, जिंदल स्टेनलेस, बिरला टायर, ग्लोबस स्पिरिट्स और इंडियन मेटल एंड फेरो एलॉयज के शेयरों में पूरे कारोबार के दौरान ओवरऑल गिरावट का रुख बना रहा।

बैंक इंडेक्स में 4 प्रतिशत की बढ़त

शेयर बाजार के अलग-अलग सेक्टर पर अगर नजर डालें तो बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का बैंक इंडेक्स 4 प्रतिशत की बढ़त के साथ बंद हुआ, वहीं दूसरे स्थान पर ऑटो इंडेक्स अपना स्थान बनाने में सफल रहा। इस इंडेक्स ने साप्ताहिक कारोबार के दौरान 3.3 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की। दूसरी ओर 23 से 27 मई के बीच हुए कारोबार के दौरान मेटल इंडेक्स को सबसे अधिक 8 प्रतिशत की गिरावट का सामना करना पड़ा। इसके अलावा बिकवाली के दबाव की वजह से ऑयल एंड गैस इंडेक्स में 3.6 प्रतिशत और रियल्टी इंडेक्स में 3.2 प्रतिशत की कमजोरी भी दर्ज की गई।

भारतीय शेयर बाजार से कुल 47,465.90 करोड़ रुपये की लिवाली

शुक्रवार को खत्म हुए कारोबारी सप्ताह के दौरान विदेशी निवेशकों ने भारतीय बाजार में कुल 9,688.62 करोड़ रुपये की बिकवाली की। इस तरह मौजूदा सप्ताह के आंकड़ों को मिलाकर मई के महीने में विदेशी निवेशक अभी तक भारतीय शेयर बाजार में कुल 53,790.99 करोड़ रुपये की बिकवाली कर चुके हैं। वहीं पिछले कारोबारी सप्ताह में घरेलू संस्थागत निवेशकों ने कुल 11,257.63 करोड़ रुपये की खरीदारी की। इस सप्ताह की खरीदारी के आंकड़े को मिलाकर मई के महीने में अभी तक घरेलू संस्थागत निवेशक भारतीय शेयर बाजार से कुल 47,465.90 करोड़ रुपये की लिवाली कर चुके हैं।

घरेलू शेयर बाजार की अभी तक की चाल के संबंध में धामी सिक्योरिटीज के वाइस प्रेसिडेंट प्रशांत धामी का मानना है कि शुक्रवार को खत्म हुए कारोबारी सप्ताह के दौरान निफ्टी 16,400 अंक के करीब पहुंचकर बंद होता हुआ नजर आया। पिछले 3 सप्ताह के दौरान निफ्टी 15,900 से 16,400 अंक के विशाल दायरे में कंसोलिडेट होता हुआ नजर आया है। खास बात तो ये है कि बीता सप्ताह निफ्टी के लिए उत्साहवर्धक रहा है। निफ्टी का बैंक इंडेक्स भी लगातार उत्साहजनक प्रदर्शन करता रहा है। यहां तक कि एक्सपायरी वाले दिन गुरुवार को भी बैंक इंडेक्स ने अपने रेजिस्टेंस से ब्रेकआउट दिया और अगले दिन शुक्रवार को भी इसका आउटपरफॉर्मेंस जारी रहा। इसके अलावा निफ्टी से मिल रहे दूसरे संकेतों से भी इस बात की उम्मीद बन रही है कि आने वाले दिनों में शेयर बाजार में पुल बैक रैली जारी रहेगी। हालांकि खुदरा निवेशकों को अभी भी सतर्क होकर ही शेयर बाजार में निवेश की बात सोचनी चाहिए, क्योंकि वैश्विक माहौल में लगातार उलट फेर हो रहा है, जो भारतीय शेयर बाजार को भी ज्यादा प्रभावित करता है।

Updated : 2022-06-02T17:52:16+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top