Home > अर्थव्यवस्था > गिरावट के साथ बंद हुआ शेयर बाजार, सेंसेक्स 400 अंक लुढ़का, निफ्टी 18 हजार के नीचे

गिरावट के साथ बंद हुआ शेयर बाजार, सेंसेक्स 400 अंक लुढ़का, निफ्टी 18 हजार के नीचे

गिरावट के साथ बंद हुआ शेयर बाजार, सेंसेक्स 400 अंक लुढ़का, निफ्टी 18 हजार के नीचे
X

नईदिल्ली।भारतीय शेयर बाजार बिकवाली के दबाव की वजह से मंगलवार को एक बार फिर भारी गिरावट के साथ बंद हुआ। जोरदार बिकवाली के बीच घरेलू संस्थागत निवेशकों ने खरीददारी करके बाजार को संभालने की कोशिश भी की, लेकिन बिकवाली का दबाव इतना ज्यादा था कि निफ्टी और सेंसेक्स दोनों ही सूचकांक भारी गिरावट के साथ बंद हुए। बीएसई का सेंसेक्स आज लगभग 400 अंक लुढ़क गया, वहीं निफ्टी भी 110 अंक से अधिक लुढ़क कर 18000 अंक के दायरे से नीचे चला गया।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का सेंसेक्स आज 36.67 अंक की सांकेतिक मजबूती के साथ 60,755.38 अंक के स्तर पर खुला। बाजार खुलते ही बिकवाली के दबाव के कारण सेंसेक्स अगले 1 मिनट में ही करीब 160 अंक गिरकर 60,595.75 अंक के स्तर पर पहुंच गया। इस स्तर पर कुछ खरीददारी भी हुई, लेकिन उसके बाद एक बार फिर बाजार पर बिकवाल हावी हो गए। जिसकी वजह से आधे घंटे के कारोबार में ही सेंसेक्स 60,433.88 अंक तक फिसल गया। बाजार में इस तेज गिरावट के बाद घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआर्ईआई) ने खरीददारी शुरू की और सेंसेक्स को 60,600 अंक के करीब तक पहुंचा दिया लेकिन इसके बाद बाजार में दोबारा बिकवाली शुरू हो गई।

बिकवाली का ये दौर दोपहर 11:30 बजे तक जारी रहा। इसके बाद बाजार में खरीददार हावी होते हुए नजर आए। खरीददारी में तेजी आने के कारण सेंसेक्स की स्थिति में भी कुछ सुधार हुआ और दोपहर 1 बजे के बाद ये सूचकांक 60,745.75 अंक के स्तर तक भी पहुंचा। लेकिन उसके बाद विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने तेज बिकवाली शुरू कर दी। जिसके कारण दोपहर 2:30 बजे सेंसेक्स गिरकर 60,322.18 अंक के स्तर पर आ गया।

इस स्तर पर पहुंचने के बाद एक बार फिर बाजार को संभालने की कोशिश की गई, लेकिन बाजार में कोई सुधार नहीं हो सका और कारोबार बंद होने के कुछ समय पहले सेंसेक्स 519.15 अंक की कमजोरी दिखाते हुए 60,199.56 अंक के स्तर तक पहुंच गया। हालांकि आखिरी मिनटों में इंट्रा-डे सेटेलमेंट के कारण सेंसेक्स की स्थिति में कुछ सुधार हुआ और ये सूचकांक 396.34 अंक की गिरावट के साथ 60,322.37 अंक के स्तर पर हुआ।

सेंसेक्स की तरह ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के निफ्टी ने भी आज 17.60 अंक की मजबूती के साथ 18,127.05 अंक के स्तर पर कारोबार की शुरुआत की। कारोबार के शुरुआती मिनटों में ही निफ्टी में तेज उतार-चढ़ाव की शुरुआत हो गई। बिकवाली के दबाव में पहले निफ्टी में गिरावट आई, लेकिन शुरुआती 15 मिनट के कारोबार में ही निफ्टी को खरीददारी का सहारा मिल गया, जिसके कारण ये सूचकांक उछलकर 18,132.65 अंक के स्तर पर पहुंच गया।

हालांकि इसके बाद बाजार में शुरू हुई बिकवाली ने अगले 10 मिनट में ही निफ्टी को सुबह के सर्वोच्च स्तर से करीब एक सौ अंक नीचे धकेल दिया, जिसके कारण ये सूचकांक 18,033.40 अंक के स्तर पर पहुंच गया। हालांकि इस गिरावट के बाद घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआर्ईआई) ने बाजार को संभालने की कोशिश की, जिससे निफ्टी की स्थिति में काफी सुधार भी हुआ। लेकिन यह सुधार स्थाई नहीं रह सका। बिकवाली के दबाव में शेयर बाजार में एक बार फिर तेज गिरावट का दौर शुरू हो गया।

दोपहर 11:15 बजे तक निफ्टी 18,028 अंक तक गिर चुका था। हालांकि इसके बाद बाजार में खरीददारी का जोर बढ़ा और निफ्टी ने भी ऊपर की ओर चढ़ना शुरु कर दिया। दोपहर 2 बजे के करीब खरीददारी के सपोर्ट से निफ्टी 18,103 अंक के स्तर तक पहुंच गया। लेकिन इस स्तर पर विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने जमकर बिकवाली शुरू कर दी। जिसके कारण अगले आधे घंटे में ही निफ्टी 150.65 अंक की कमजोरी के साथ 17,958.80 अंक के स्तर पर तक गिर गया। हालांकि आज का कारोबार बंद होने के कुछ समय पहले दिन के सौदों के निपटारे के कारण निफ्टी की स्थिति में भी कुछ सुधार हुआ। जिसकी वजह से ये सूचकांक 110.25 अंक की कमजोरी के साथ 18 हजार अंक के दायरे से नीचे 17,999.20 अंक के स्तर पर बंद हुआ।

आज के कारोबार में रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर सबसे बड़े लूजर्स में से एक रहे। रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर 3.17 प्रतिशत की गिरावट के साथ 2496 रुपये के स्तर पर बंद हुए। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के सेंसेक्स में शामिल 30 शेयरों में से 21 शेयर आज बिकवाली के दबाव के कारण लाल निशान में गिरकर बंद हुए। वहीं 9 शेयर बढ़त दिखाते हुए हरे निशान में बंद हुए। इन 30 शेयरों में से नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन, अल्ट्राटेक, भारतीय स्टेट बैंक और इंडसइंड बैंक के शेयरों में 2 प्रतिशत तक की गिरावट देखी गई। वही मारुति के शेयर आज 7.31 प्रतिशत तक उछलकर बंद हुए।

Updated : 2021-11-17T15:45:27+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top