Top
Home > अर्थव्यवस्था > मार्च में जीएसटी की रिकार्ड वसूली हुई, 1.23 लाख करोड़ मिला रेवेन्यू

मार्च में जीएसटी की रिकार्ड वसूली हुई, 1.23 लाख करोड़ मिला रेवेन्यू

मार्च में जीएसटी की रिकार्ड वसूली हुई,  1.23 लाख करोड़ मिला रेवेन्यू
X

नईदिल्ली। माल एवं सेवा कर (जीएसटी) का मार्च महीने में रिकार्ड संग्रह हुआ है। मार्च महीने में यह बढ़कर 1.23 लाख करोड़ रुपये हो गया है। यह पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 27 फीसदी ज्‍यादा है। वित्त मंत्रालय ने गुरुवार को ट्वीट करके ये जानकारी साझा की है।

वित्‍त मंत्रालय ने बताया कि जीएसटी राजस्व संग्रह पिछले 6 महीनों के दौरान एक लाख करोड़ रुपये से ज्‍यादा रहा है। इस अवधि में जीएसटी संग्रह में तेजी से बढ़ोतरी के रुझानों से कोविड-19 महामारी के बाद आर्थिक सुधार के स्पष्ट संकेत मिलते हैं। मंत्रालय ने बताया कि सकल जीएसटी राजस्व मार्च 2021 में 1,23,902 करोड़ रुपये रहा, जिसमें केंद्रीय जीएसटी के 22,973 करोड़ रुपये, राज्य जीएसटी के 29,329 करोड़ रुपये और एकीकृत जीएसटी के 62,842 करोड़ रुपये (वस्तुओं के आयात पर जमा 31,097 करोड़ रुपये सहित) और उपकर के 8,757 करोड़ रुपये (वस्तुओं के आयात पर जमा 935 करोड़ रुपये सहित) शामिल हैं।

वित्‍त मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा कि मार्च 2021 के दौरान जीएसटी राजस्व, जीएसटी की शुरुआत से सबसे ज्‍यादा है। मंत्रालय के मुताबिक पिछले 5 महीनों में जीएसटी राजस्व संग्रह की प्रवृत्ति के अनुरूप ही मार्च 2021 में राजस्व संग्रह पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 27 फीसदी ज्‍यादा है। दरअसल ये बढ़ोतरी जीएसटी, आयकर और सीमा शुल्क आईटी प्रणाली सहित बहुपक्षीय स्रोतों से मिलने वाले डेटा का इस्तेमाल कर नकली-बिलिंग के खिलाफ निगरानी की गई है, जिसने राजस्व संग्रह में योगदान किया है।

Updated : 1 April 2021 12:12 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top