Top
Home > देश > पीओके और अक्साइ चीन पर राम माधव बोले - जब सही वक्त आएगा तो वह हमारे कब्जे में होगा

पीओके और अक्साइ चीन पर राम माधव बोले - जब सही वक्त आएगा तो वह हमारे कब्जे में होगा

पीओके और अक्साइ चीन पर राम माधव बोले - जब सही वक्त आएगा तो वह हमारे कब्जे में होगा

दिल्ली। इन दिनों लद्दाख में सीमा पर भारत और चीन आमने सामने हैं। इसके चलते भारत में लोगों के बीच ये भावना भी पैदा हो गई है कि चीन के सामान का बहिष्कार करना है। इसी बीच भाजपा के महासचिव राम माधव ने एक टीवी चैनल पर सीमा पर तनाव को लेकर कुछ बातें कहीं हैं, जिसके दौरान ये भी साफ कर दिया कि पीओके और अक्साइ चीन हमारा है और जब सही वक्त आएगा तो वह हमारे कब्जे में भी होगा।

लद्दाख में भारत और चीन की सेनाओं के बीच का तनाव काफी बढ़ चुका है। हालात इतने गंभीर हो चुके हैं कि आज दोनों देशों की सेनाओं के उच्च अधिकारियों के बीच बैठक हो रही है, जिसमें ये फैसला किया जाएगा कि आगे क्या करना है। बता दें कि भारत की ओर से लगातार ये मांग की जा रही है कि सीमा पर कुछ समय पहले जैसी स्थिति थी, वैसी ही फिर से बहाल हो और भारत की सीमा के अंदर तक घुसा चीन वापस जाए।

चीन को लेकर इन दिनों भारत में लोग कह रहे हैं कि चीन के सामान का बहिष्कार करो, जिस पर राम माधव ने कहा कि ये सिर्फ जनता के मन की भावना है। सरकार ने ऐसा कोई आदेश या बयान नहीं दिया है। साथ ही उन्होंने अमेरिका के प्यू रिसर्च सेंटर का हवाला देते हुए कहा कि उसकी एक रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया के अधिकतर लोकतांत्रिक देशों में जनता में एक गुस्सा है, क्योंकि किसी को भी चीन की आक्रामक रवैया वाली नीति पसंद नहीं आ रही है। इसकी वजह से चीन को लोग अब कम पसंद करने लगे हैं, जिस पर खुद चीन को सोचने की जरूरत है। राम माधव ने पीएम मोदी के आत्मनिर्भर भारत वाले आग्रह को भी स्पष्ट किया और कहा कि आत्मनिर्भर भारत होना चाहिए, ताकि अर्थव्यवस्था भी आत्मनिर्भर बने।

राम माधव ने बताया कि अक्साइ चीन हमारा है, ये बात 1963 में नेहरू जी ने संसद में कही थी। तब से हम इस बात को भूले नहीं हैं, लेकिन रोज वहीं बात बार-बार नहीं कह रहे हैं। उन्होंने ये भी कहा कि इसी तरह पीओके भी हमारा है और 1994 में नरसिम्हा राव ने तो संसद में इसे लेकर सर्वसम्मति से प्रस्ताव भी पेश किया था। देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी कई मौकों पर ये बात कह चुके हैं कि पीओके भारत का है।

अगर बात की जाए पीओके और अक्साइ चीन पर कब्जा करने की तो इस पर राम माधव ने जम्मू कश्मीर की धारा 370 का उदाहरण दिया। उन्होंने कहा कि उन्हें ऐसा नहीं लगता था कि उनकी आंखों के सामने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाई जा सकती है, लेकिन वह हट गई है। उन्होंने कहा कि वक्त आता है तो जो होना है वो हो जाता है। पीओके और अक्साइ चीन भी हमारा होगा, जब वक्त आएगा। हालांकि, उन्होंने ये नहीं बताया कि वह वक्त कब आएगा ना ही कोई संकेत दिया।

Updated : 6 Jun 2020 3:48 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top