Top
Home > देश > प्रधानमंत्री मोदी ने तिलक और आजाद को किया याद

प्रधानमंत्री मोदी ने तिलक और आजाद को किया याद

प्रधानमंत्री मोदी ने तिलक और आजाद को किया याद

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को स्वतंत्रता सेनानी लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक और चंद्रशेखर आजाद को उनकी जयंती पर नमन किया।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने ट्वीट संदेश में कहा, मैं लोकमान्य तिलक को उनकी जयंती पर नमन करता हूं। उन्होंने अनगिनत भारतीयों में देशभक्ति की चिंगारी प्रज्जवलित की। उन्होंने सफलतापूर्वक समाज के सभी वर्गों के लोगों को संगठित किया और हमारे नागरिकों और भारत के गौरवशाली अतीत के बीच संबंध को और गहरा किया। लोकमान्य तिलक ने शिक्षा पर भी जोर दिया।

उल्लेखनीय है कि बाल गंगाधर तिलक का जन्म 23 जुलाई 1856 को महाराष्ट्र के रत्नागिरी में हुआ था। 'स्वराज मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर ही रहूंगा' उनका यह नारा क्रांतिकारियों के बीच काफी प्रसिद्ध था। अंग्रेज उन्हें 'भारतीय अशान्ति के पिता' कहते थे। उन्हें, 'लोकमान्य' की उपाधि भी प्राप्त थी जिसका अर्थ है लोगों द्वारा स्वीकृत।

प्रधानमंत्री मोदी ने एक अन्य ट्वीट में चंद्रशेखर आजाद को नमन करते हुए कहा, महान चंद्रशेखर आजाद को उनकी जयंती पर मेरी श्रद्धांजलि। भारत माता के एक बहादुर पुत्र, उन्होंने अपना बलिदान दिया ताकि उनके साथी नागरिक उपनिवेशवाद से स्वतंत्रता प्राप्त कर सकें। भारतीयों की पीढ़ी उनके साहस से प्रेरित हैं।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने अपने संदेश में कहा, स्वतंत्रता संग्राम के अग्रदूत चंद्रशेखर आजाद एक ऐसे क्रांतिकारी थे जिन्होंने अपने अदम्य साहस, देशभक्ति और जनून से अंग्रेज़ी हुकूमत की जड़ों को हिला दिया था। अपने नाम के अनुरूप आज़ाद को कभी अंग्रेज़ी पुलिस पकड़ नहीं पाई। यह राष्ट्र ऐसे महान बलिदानी का सदैव ऋणी रहेगा।

चंद्रशेखर आजाद का जन्म 23 जुलाई 1906 को मध्य प्रदेश के अलीराजपुर जिला के भाबरा गांव में हुआ था। चंद्रशेखर आजाद ने महज 24 साल की उम्र में 27 फरवरी 1931 को उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में स्थित पार्क में अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई में अपनी शहादत दे दी थी।

Updated : 2018-07-23T19:50:30+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top