Top
Home > देश > कोरोना से जंग हारने के कगार पर पहुंचने वाला पाकिस्तान को यूपी का योगी मॉडल रास आया

कोरोना से जंग हारने के कगार पर पहुंचने वाला पाकिस्तान को यूपी का योगी मॉडल रास आया

कोरोना से जंग हारने के कगार पर पहुंचने वाला पाकिस्तान को यूपी का योगी मॉडल रास आया

नई दिल्ली। कोरोना से जंग हारने के कगार पर पहुंचने वाला पाकिस्तान को उत्तर प्रदेश का योगी.मॉडल रास आ रहा हैकोरोना से जंग हारने के कगार पर पहुंचने वाला पाकिस्तान को उत्तर प्रदेश का योगी.मॉडल रास आ रहा है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कारेाना से निपटने के लिए जिस तरह विपरीत परिस्थितियों में प्रदेश की कमान संभाली हैए उनके कामकाज और योजनाओं को क्रियान्वित कराने के तरीके से पाकिस्तान खासा प्रभावित हुआ है। पाकिस्तान में आम लोग जहां योगी मॉडल की सराहना कर रहे हैंए वहीं इमरान सरकार के सलाहकार उन्हें योगी मॉडल अपनाने की सलाह दे रहे हैं।

दरअसलए उत्तर प्रदेश भारत का जनसंख्या के दृष्टिकोण से सबसे राज्य होने के नाते जिम्मेदारियों का अंबार भी और राज्यों की तुलना में कहीं अधिक है। उत्तर प्रदेश की जनसंख्या व साक्षरता दर काफी कुछ पाकिस्तान के समान ही है। दोनों के बीच भौगोलिक समानताए भी हैं। बावजूद इसके मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्थितियों पर जिस नियंत्रण पाया हैए वैसा पाकिस्तान सरकार नहीं कर पाई। पाकिस्तानी अखबार ष्डानष् के स्थानीय संपादक फहद हुसैन ने एक ग्राफ साझा किया हैए जिसमें उन्होंने पाकिस्तान और उत्तर प्रदेश में मृत्यु दर की तुलना की है। उन्होंने लिखा कि पाकिस्तान ने उत्तर प्रदेश के मुकाबले बेहद घटिया प्रदर्शन किया है।

फहद का कहना है कि कमोबेश उत्तर प्रदेश और पाकिस्तान की जनसंख्या और साक्षरता दर सामान ही है। उत्तर प्रदेश के मुकाबले पाकिस्तान में प्रति किलोमीटर जनसंख्या घनत्व भी कम है और प्रति व्यक्ति जीडीपी ज्यादा है। लेकिन उत्तर प्रदेश की सरकार ने लॉकडाउन को सख्ती के साथ इसका से पालन करवाया। उन्होंने अफसोस जताया कि पाकिस्तान में ऐसा संभव नहीं हो सका।

योगी मॉडल को आधार बनाते हुए फहद ने सवाल उठाया है कि आखिर पाकिस्तान में इतने लोगों को जान क्यों गँवानी प?ीघ् उन्होंने कहा कि अगर उत्तर प्रदेश और पाकिस्तान के आँक?ों की तुलना करें तो जहाँ उत्तर प्रदेश में 10261 कोरोना मरीज मिले हैंए वहीं पाकिस्तान में ये संख्या सा?े 9 गुना से भी ज्यादा 98943 तक पहुँच चुकी है। पाकिस्तान में इससे मरने वालों की संख्या भी 2000 के पार हो गई है जबकि उत्तर प्रदेश में ये 275 है।

योगी के कर्मयोगी प्रयासों की विदेशों में उठी गूंजरू शलभमणि त्रिपाठी

योगी आदित्यनाथ के सूचना सलाहकार शलभ मणि त्रिपाठी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कर्मयोगी बताते हुए कहा कि उनके प्रयासों और सफलता की गूँज अब सीमा पार प?ौसी देशों में भी सुनाई दे रही है। शलभ मणि ने कहा कि पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार अब इमरान खान की सरकार को कोरोना से ल?ाई में योगी.मॉडल अपनाने की सलाह दे रहे हैं और इसके लिए प्रामाणिक तथ्य भी रख रहे हैं।

कोरोना पर महाराष्ट्र सरकार हर मोर्चे पर विफल

कोरोना के खिलाफ में उत्तर प्रदेश का योगी मॉडल पाकिस्तान को अगर प्रभावित कर रहा है तो महाराष्ट्र सरकार पर उसने विफलता का ग्राफ भी साझा किया है। फहद ने महाराष्ट्र से पाकिस्तान की तुलना करते हुए लिखा कि इस राज्य ने किस तरह काफी बुरा प्रदर्शन किया है और सरकार वहाँ कोरोना से निपटने में नाकामयाब रही है। महाराष्ट्र में कोरोना के मरीजों की संख्या 85ए975 तक पहुँच गई हैए जो पाकिस्तान के से बहुत ज्यादा कम नहीं है। मरने वालों की संख्या 3060 हो गई हैए जो पाकिस्तान से गुना ज्यादा है। फहद ने लिखा कि महाराष्ट्र की सरकार इस मामले में एकदम विफल रही है।

Updated : 2020-06-14T07:15:10+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top