Home > देश > राष्ट्रीय सुरक्षा सबसे ज्यादा जरूर, सभी दलों को साथ आना ही चाहिए : शरद पवार

राष्ट्रीय सुरक्षा सबसे ज्यादा जरूर, सभी दलों को साथ आना ही चाहिए : शरद पवार

राष्ट्रीय सुरक्षा सबसे ज्यादा जरूर, सभी दलों को साथ आना ही चाहिए : शरद पवार
X

मुंबई/वेब डेस्क। पूर्व रक्षामंत्री एवं राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के अध्यक्ष शरद पवार ने कहा है कि राष्ट्रीय सुरक्षा संबंधी मामलों में सभी दलों को साथ आना चाहिए और एक सशक्त लाइन आफ एक्शन बनाना चाहिए। अब तक चीन के साथ 13 बैठकें हुई हैं और सभी बेनतीजा रही हैं। उन्होंने कहा कि चीन के साथ लगातार संघर्ष देश के लिए चिंताजनक है।

पूर्व रक्षामंत्री शरद पवार ने बुधवार को मुंबई में पत्रकार वार्ता में कहा कि जम्मू-कश्मीर के पुंछ में लगातार सैनिकों पर हमले हो रहे हैं। सीमा क्षेत्र पर हर दिन कहीं न कहीं भारतीय सैनिकों पर हमले जारी हैं। चीन के साथ अब तक 13 बैठक हो चुकी हैं, लेकिन सभी बैठक बेनतीजा ही रही हैं। इसलिए राज्य सरकार को इस संबंध में सभी पार्टी के नेताओं के साथ चर्चा कर प्रभावी भूमिका तय करना जरूरी है, जिससे एक सशक्त लाइन आफ एक्शन बन सके और भारतीय सैनिकों पर हमले रुक सकें।

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के इस्तीफे की मांग

शरद पवार ने उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी प्रकरण पर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के इस्तीफे की मांग की। उन्होंने कहा कि इस घटना की तुलना उन्होंने जलियांवालाबाग से की थी। इसके बाद उन्हें कई केंद्रीय मंत्रियों के फोन आए थे। बाद में उप मुख्यमंत्री अजीत पवार के करीबियों के ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी शुरू कर दी गई। उन्होंनें कहा कि इससे पहले नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने भी एक जगह छापा मारा। इस छापे में फरार आरोपित और भाजपा नेता को गवाह बनाया गया। इससे यह कार्रवाई संदेह के घेरे में आ चुकी है।

ईडी और सीबीआई भाजपा नेताओं के इशारे पर कार्रवाई कर रही

शरद पवार ने कहा कि एनसीबी ने अब तक केंद्र सरकार को दिखाने के लिए मीडिया इवेंट कर जितना ड्रग्स बरामद किया है, उससे बहुत ज्यादा ड्रग्स महाराष्ट्र की एजेंसी ने किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और सीबीआई भी सिर्फ भाजपा नेताओं के इशारे पर कार्रवाई कर रही हैं, जो इससे पहले कभी नहीं हुआ था। शरद पवार ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा दो साल से सरकार गिराने का प्रयास करती रही, लेकिन जब सरकार नहीं गिरी, तो वरिष्ठ नेताओं के नजदीकी लोगों पर छापेमारी शुरू कर दिया गया।

महाराष्ट्र के चीनी मिलों पर कार्रवाई रोको

राकांपा अध्यक्ष पवार ने कहा कि महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख पर आरोप लगाने वाले परमबीर सिंह कहां हैं, उन्हें कोई ढ़ूंढ नहीं रहा है और अनिल देशमुख के घर पर 5 बार छापेमारी की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि भाजपा के इशारे पर गैर-भाजपा दलों के नेताओं को टारगेट किया जा रहा है। पवार ने कहा कि केंद्रीय एजेंसियों की ओर से महाराष्ट्र के चीनी मिलों पर कार्रवाई की जा रही है। अगर यह कार्रवाई नहीं रोकी गई और उन्हें राहत नहीं दी गई तो राज्य की 175 चीनी मिलों की हालत भी मुंबई के कपड़ा मिलों जैसी हो जाएगी।

Updated : 2021-10-17T00:09:38+05:30
Tags:    

Swadesh News

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top