Top
Home > देश > भाजपा ने असम की संस्कृति, भाषा और पहचान को उचित मान्यता दिलाने का कार्य किया : जेपी नड्डा

भाजपा ने असम की संस्कृति, भाषा और पहचान को उचित मान्यता दिलाने का कार्य किया : जेपी नड्डा

भाजपा ने असम की संस्कृति, भाषा और पहचान को उचित मान्यता दिलाने का कार्य किया : जेपी नड्डा
X

सिलचर। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा सोमवार को असम दौरे पर सिलचर पहुंचे। यहां पुलिस परेड ग्राउंड में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कहा भाजपा ने असम की संस्कृति, भाषा और पहचान को उचित मान्यता दिलाने का कार्य किया।

उन्होंने कहा की मेरे लिए बहुत सौभाग्य की बात है कि आज मुझे इस विजय संकल्प रैली में आने का मौका मिला है। मुझे बेहद ख़ुशी है की भाजपा की विजय संकल्प रैली की शुरुआत बराक वैली से हो रही है। जहां से भाजपा को पहली जीत मिली। मुझे याद है1991 के हमारे प्रयास और बराक घाटी पहली जीत मिली थी। इस घाटी से हमें 9 विधायक और 2 सांसद मिले।

जनता ने भाजपा को समर्थन दिया -

उन्होंने जनता को बधाई देते हुए कहा की 2016 में यहां सरकार बनी और फिर चाहे लोकसभा चुनाव हो, विधानसभा उपचुनाव हो, जिला परिषद चुनाव हो, टेरिटोरियल कॉउन्सिल का चुनाव हो, बोडो टेरिटोरियल कॉउन्सिल का चुनाव हो, टीवा टेरिटोरियल कॉउन्सिल का चुनाव हो या पंचायत चुनाव हर जगह आपने भाजपा को समर्थन दिया है।

बोडो समस्या का हल निकाला -

उन्होंने कहा की भाजपा ने हमेशा असम की अनूठी संस्कृति और भाषा का ध्यान रखने का प्रयास किया है। उन्होंने कहा की दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी असम आंदोलन का समर्थन में आवाज उठाने वाले पहले नेता थे। बोडो संकट जो लगभग 50 दशकों से लटका हुआ था एवं ब्रू-रींग संकट भी मोदी सरकार द्वारा हल किया गया है। इसके साथ ही हमारी सरकार ने स्मार्ट फेंस प्रोजेक्ट की मदद से भूमि विवाद को भी हल किया।

असम भाषा को सहेजना सबक जिम्मेदारी -

असम की भाक षा को संभाल कर रखने की जिम्मेदारी हम सबकी है और हमने ये किया भी है। भूपेन हजारिका को भारत रत्न नरेन्द्र मोदी जी की सरकार ने दिया। गोपीनाथ बोरदोलोई को भारत रत्न से सम्मानित अटल जी की सरकार ने किया था। मुझे खुशी है कि जब मैं मोदी जी की सरकार में मंत्री था तो मैं गुवाहाटी को 1,350 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला एक एम्स दे पाया। अब यहां के लोगों को इलाज के लिए दिल्ली या कोलकाता नहीं जाना पड़ेगा।


Updated : 11 Jan 2021 1:15 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top