Top
Home > देश > कोलकाता मेडिकल कॉलेज में लगी, 250 मरीजों की बचाई जान

कोलकाता मेडिकल कॉलेज में लगी, 250 मरीजों की बचाई जान

कोलकाता मेडिकल कॉलेज में लगी, 250 मरीजों की बचाई जान
X

कोलकाता/स्वदेश वेब डेस्क। पश्चिम बंगाल में कोलकाता मेडिकल कॉलेज ऐंड हॉस्पिटल के फार्मेसी विभाग में बुधवार सुबह भीषण आग लग गई। आग की सूचना मिलने पर दमकल की 10 गाड़ियों ने मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पाने का प्रयास किया। हॉस्पिटल से करीब 250 मरीजों की जान पर बन आई। दमकल कर्मियों ने सभी को सुरक्षित बाहर निकाल लिया। इस हादसे में किसी भी तरह के जान-माल के नुकसान की अभी कोई सूचना नहीं है।

जानकारी के मुताबिक बुधवार सुबह कोलकता के मेडिकल कॉलेज में फार्मेसी स्टोरी में आग लग गई। आग की लपटों को देखकर वहां अफरा-तफरी मच गई। मरीजों और उनके तीमारदारों ने शोर मचाना शुरू किया। इस बीच प्रशासन ने दमकल विभाग को सूचना दी। सूचना मिलते ही दमकल की गाड़ियां मौके पर रवाना कर दी गईं। फिलहाल दमकल की 10 गाड़ियां आग बुझाने में जुटी हैं। स्थानीय पुलिस की टीम भी मौके पर मौजूद है। मिली जानकारी के अनुसार, मेडिकल कॉलेज के सभी मरीज सुरक्षित हैं। बताया जा रहा है कि आग लगने की जानकारी मिलते ही प्रशासन ने तत्परता दिखाते हुए करीब 250 मरीजों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया।

आग में नष्ट हो गई मेडिकल कॉलेज की एक महीने की औषधि, स्वास्थ्य विभाग से मांगी मदद

राजधानी कोलकाता के सबसे बड़े अस्पतालों में शुमार मेडिकल कॉलेज के औषधि भंडार में बुधवार सुबह 8:00 बजे के करीब आग लग गई। मौके पर पहुंचीं अग्निशमन विभाग की 10 गाड़ियों ने करीब डेढ़ घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

इस बीच अस्पताल प्रबंधन ने बताया है कि अग्निकांड में अस्पताल की करीब एक महीने तक इस्तेमाल होने वाली औषधि नष्ट हो गई है। यहां मौजूद 80% दवाइयां जलकर खाक हो गई हैं। इसके अलावा जो बाकी दवाइयां हैं वह आग की ताप की वजह से इस लायक नहीं बची हैं कि रोगियों के लिए इस्तेमाल की जा सकें। इसे देखते हुए स्वास्थ्य विभाग के पास इससे संबंधित रिपोर्ट भेजी गई है एवं तत्काल प्रभाव से इन औषधियों को मुहैया कराने का आवेदन किया गया है।

एक अन्य अधिकारी ने बताया कि अस्पताल के औषधि केंद्र में रोगियों की जरूरतों के अनुसार कम से कम एक महीने की दवाइयां रखी जाती हैं। बुधवार की सुबह आग लगने के बाद सबसे बड़ी समस्या अब इस बात की है कि यहां भर्ती हजारों रोगियों को दवा कहां से दी जाएगी। हालांकि उन्होंने उम्मीद जताई स्वास्थ्य विभाग की ओर से जल्द सारी दवाइयां मुहैया करा दी जाएंगी।



Updated : 2018-10-04T15:01:23+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top