Latest News
Home > खेल > Chess > 16 वर्षीय ग्रैंडमास्टर की उपलब्धि, 3 महीनों में दूसरी बार विश्व चैंपियन को हराया

16 वर्षीय ग्रैंडमास्टर की उपलब्धि, 3 महीनों में दूसरी बार विश्व चैंपियन को हराया

रमेशबाबू ने

16 वर्षीय ग्रैंडमास्टर की उपलब्धि, 3 महीनों में दूसरी बार विश्व चैंपियन  को हराया
X

नईदिल्ली। भारत के 16 वर्षीय ग्रैंडमास्टर प्रज्ञानानंद रमेशबाबू ने केवल तीन महीनों में दूसरी बार विश्व चैंपियन नार्वे के मैग्नस कार्लसन को चौंकाया। प्रज्ञानानंद ने शुक्रवार को शतरंज मास्टर्स ऑनलाइन रैपिड शतरंज टूर्नामेंट के पांचवें दौर में कार्लसन हराया।

टूर्नामेंट का पांचवां दौर मैच ड्रॉ की ओर बढ़ रहा था लेकिन विश्व चैंपियन मैग्नस कार्लसन की एक चाल की गलती के परिणामस्वरूप उनकी हार हुई। जीत के बावजूद 16 वर्षीय प्रज्ञानानंद खुश नहीं थे। मैग्नस कार्लसन की गलती के बाद प्रज्ञानानंद ने कहा कि वह इस तरह से जीतना नहीं चाहते थे।

इस जीत के साथ भारतीय ग्रैंडमास्टर को अब लीडरबोर्ड में पांचवें स्थान पर रखा गया है। कार्लसन 12 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर है और चीन के वेई यी टूर्नामेंट के दूसरे दिन के अंत में 18 अंकों के साथ शीर्ष पर हैं। इससे पहले, प्रज्ञानानंद ने इस साल फरवरी में एयरथिंग्स मास्टर्स ऑनलाइन रैपिड टूर्नामेंट में कार्लसन से बेहतर प्रदर्शन किया था।

Updated : 2022-06-06T12:43:22+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top