Top
Home > राज्य > अन्य > बिहार > मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड की आरोपी और पूर्व मंत्री मंजू वर्मा को नीतीश की पार्टी ने दिया टिकट

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड की आरोपी और पूर्व मंत्री मंजू वर्मा को नीतीश की पार्टी ने दिया टिकट

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड की आरोपी और पूर्व मंत्री मंजू वर्मा को नीतीश की पार्टी ने दिया टिकट
X

पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड यानी जदयू ने तीन चरणों में होने वाले बिहार विधासनभा चुनाव के लिए अपने 115 उम्मीदवारों की पूरी लिस्ट जारी कर दी है। जदयू की कैंडिडेट लिस्ट में एक नाम ऐसा रहा, जिसने सबको चौंका दिया है। नीतीश कुमार की जदयू ने पूर्व मंत्री मंजू वर्मा को भी टिकट दिया है, जो 2018 में मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड की आरोपी हैं और जिन्हें पार्टी ने खुद निकाल दिया था। बता दें कि जदयू की सहयोगी भारतीय जनता पार्टी ने भी अपने उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है।

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड में नाम आने और मंत्री पद से हटाए जाने से पहले मंजू वर्मा नीतीश कुमार की कैबिनेट में सामाजिक न्याय मंत्री थीं। मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड में विवादों में रहीं पूर्व मंत्री मंजू वर्मा को भी जेडीयू ने चेरिया विधानसभा क्षेत्र से उम्मीदवार बनाया गया है। फिलहाल वह जमानत पर बाहर हैं। इतना ही नहीं, मुजफ्फरपुर कांड सामने आने के बाद जदयू ने उन्हें निलंबित भी कर दिया था।

मंजू वर्मा को नीतीश कुमार की पार्टी से टिकट मिलना इसलिए भी हैरान करने वाला है क्योंकि मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड के वक्त मंजू वर्मा समाज कल्याण विभाग की मंत्री थीं, जिनके ऊपर आरोप है कि उनकी नाक के नीचे बालिका गृह कांड घटित हुआ। इस कांड के सामने आने के बाद उन्हें अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था। इस पूरे मामले में कथित रूप से मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा के भी शामिल होने की बात सामने आई थी। मुजफ्फरपुर बालिका गृह रेप कांड में करीब 34 बच्चियों के साथ रेप की पुष्टि हुई थी। इसके बाद मंजू वर्मा के पति पर भी आरोपी ब्रजेश ठाकुर के साथ संपर्क रखने और अवैध हथियार मिलने की वजह से गाज गिरी थी।

जदयू की लिस्ट से पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय का नाम मिसिंग है, जिसे लेकर काफी चर्चाएं हो रही हैं। ऐसी संभावना थी कि वीआरएस लेने के बाद गुप्तेश्वर पांडेय जदयू से टिकट लेकर बक्सर से चुनाव लड़ेंगे, मगर न तो जदयू की लिस्ट में उनका नाम है और न ही बीजेपी ने कहीं से उन्हें उम्मीदवार बनाया है। बता दें कि एनडीए में सीट बंटवारे के बाद जेडीयू को 122 सीटें मिली थीं। जेडीयू ने अपने खाते से 7 सीटें जीतन राम मांझी की दे दी। इस तरह अब नीतीश कुमार की पार्टी के पास 115 सीटें हैं।

Updated : 8 Oct 2020 8:42 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top