Top
Home > राज्य > अन्य > बिहार > लॉकडाउन : ट्रकों में छिपाकर बिहार ले जाए जा रहे हैं मजदूर

लॉकडाउन : ट्रकों में छिपाकर बिहार ले जाए जा रहे हैं मजदूर

लॉकडाउन : ट्रकों में छिपाकर बिहार ले जाए जा रहे हैं मजदूर
X

नई दिल्ली। कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सरकार ने 21 दिन के लॉकडाउन का फैसला किया। बसें और ट्रेनें बंद हैं। केवल जरूरी सेवाओं के लिए ट्रकों को मूवमेंट की अनुमति है। अब इन ट्रकों के जरिए लोगों को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने का खेल शुरू हो गया है। मुंबई के बाद दिल्ली में भी ऐसे कई मामले सामने आए हैं। ट्रकों में मजदूरों को ठूंसकर बिहार ले जाया जा रहा है।

सुभाष प्लेस पुलिस ने दो ट्रकों में ठूंसकर बिहार जा रहे 60 मजदूरों को पकड़ा है। पुलिस ने दोनों ट्रक चालकों को गिरफ्तार कर वाहन जब्त कर लिया है। शकूरपुर स्थित रिंग रोड पर रविवार रात पुलिस बैरिकेड लगाकर जांच कर रही थी। रात करीब एक बजे पुलिस ने एक ट्रक को रोका। ट्रक के पिछले हिस्से को विशेष तरह से ढका गया था। जब तिरपाल हटाई गई तो उसमें 32 मजदूर अपने सामान के साथ बैठे हुए मिले। ये लोग लारेंस रोड इंडस्ट्रियल एरिया में काम करते थे और लॉकडाउन के बाद ट्रक से बिहार जा रहे थे।

ट्रक चालक ने प्रति व्यक्ति दो हजार रुपये लेकर घर पहुंचाने का वादा किया था। पुलिस ने सभी मजदूरों को उनके स्थानीय पते पर छोड़ दिया है और चालक को गिरफ्तार कर लिया है। इसके एक घंटे बाद पुलिस ने एक और ट्रक को पकड़ा, जिसपर 28 लोग सवार थे। ये लोग कीर्ति नगर, नांगलोई इलाकों में मजदूरी करते थे और बिहार जा रहे थे।

यूपी गेट पर सोमवार सुबह 10 बजे पुलिस ने एक ट्रक को रोका। पुलिस ने ट्रक का तिरपाल हटाया तो अंदर 30 लोग छिपकर बैठे मिले। पूछताछ के दौरान उन्होंने बताया कि सभी बल्लभगढ़ में दिहाड़ी मजदूरी करते हैं। वे घर के लिए निकल रहे थे, लेकिन पता चला कि अब पैदल भी नहीं जाने दिया जा रहा है। ऐसे में वे सभी लोग ट्रक के अंदर छिपकर लखनऊ जा रहे थे। पुलिस उनको उसी ट्रक से वापस बल्लभगढ़ भेज दिया।

आनंद विहार की ओर जाने वाली भीड़ पर काबू न पाने की स्थिति में अब दिल्ली में अर्धसैनिक बलों की तैनाती शुरू हो गई है। आनंद विहार कॉलोनी से योजना विहार होते हुए आनंद विहार बस अड्डे की ओर जाने वाली सड़क पर पुलिस बैरिकेड लगाए हुए हैं। यहां सीआरपीएफ की तैनाती की गई है। वेवजह आए लोगों को गिरफ्तार कर उनकी गाड़ियां जब्त की जा रही हैं।

Updated : 31 March 2020 4:53 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top