Top
Home > राज्य > अन्य > बिहार > राजग के साथ चुनाव ना लड़ने पर लोजपा को भाजपा की दो टूक, नहीं कर पाएंगे पीएम की फोटो का इस्तेमाल

राजग के साथ चुनाव ना लड़ने पर लोजपा को भाजपा की दो टूक, नहीं कर पाएंगे पीएम की फोटो का इस्तेमाल

राजग के साथ चुनाव ना लड़ने पर लोजपा को भाजपा की दो टूक, नहीं कर पाएंगे पीएम की फोटो का इस्तेमाल
X

पटना। बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर एनडीए से अलग होने के बाद लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान के प्रधानमंत्री मोदी संग तस्वीरें लगाने को लेकर बीजेपी ने चिराग को आगाह किया है। बीजेपी ने चिराग पासवान को पीएम के साथ वाली किसी भी तस्वीरों को इस्तेमाल पर रोक लगा दी है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक इसके अलावा भाजपा और भी कई तरह मनाही लोजपा को करेगी ताकि वह बिहार विधानसभा चुनाव में भाजपा के साथ का फायदा न उठा सके।

दरअसल एनडीए से अलग होने के बाद या एडीए के साथ रहने के दौरान जदयू अध्यक्ष और मुख्यमंत्री नीतीश पर हमले के दौरान कई बार लोजपा अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री मोदी संग की अपनी कई तस्वीरों को साझा किया था। इस पर कई बार जदयू ने भी आपत्ति जाहिर की थी।

भाजपा - लोजपा से बनाएगी दूरी -

वहीं भाजपा ने लोजपा के राजग गठबंधन से बाहर होने के बाद लोजपा से पूरी तरह दूरी बनाने का फैसला लिया है। भाजपा ने यह फैसला जदयू के साथ संबंधों में किसी भी प्रकार के खटास से बचने के लिए यह फैसला किया है। उधर लोजपा ने 143 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा की है। इनमें से अधिकतर वे सीटें हैं जो जदयू के पास हैं। इसके अलावा लोजपा भाजपा के हिस्से वाली कई सीटों पर भी अपने उम्मीदवार खड़ा करेगी।

समन्वित रणनीति बनेगी -

लोजपा के एनडीए से निकलने के बाद आई तल्खी से बचने के लिए भाजपा जदयू के साथ मिलकर समन्वित रणनीति बनाएंगे। ताकि दोनों दलों के बीच का विश्वास नीचे तक कायम रहे और हर सीट पर दोनों दलों का समर्थक वर्ग एकजुट रहे। सूत्रों के अनुसार चुनाव अभियान में भाजपा नेता सीधे तौर पर भले ही पासवान का नाम लें, लेकिन राजग को कमजोर करने वालों और राजद के लिए रास्ता बनाने वालों को लेकर पार्टी हमलावर रहेगी।

सूत्रों के अनुसार भाजपा नेताओं ने इस बात पर भी चर्चा की है कि लोजपा के अलग से चुनाव लड़ने पर कितना नुकसान होगा। हालांकि, अधिकांश नेताओं का मत था कि ऐसी सीटों की संख्या ज्यादा नहीं होगी, लेकिन भाजपा व जदयू के बीच खटास बढ़ सकती है। दोनों दलों का एक ऐसा वर्ग जो एक दूसरे दल को पसंद नहीं करता है वह भितरघात कर सकता है।

Updated : 6 Oct 2020 12:30 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top