Top
Home > राज्य > अन्य > बिहार > आओ मिलकर दुनिया को दिखा दें ये गांधी का देश है : लालू

आओ मिलकर दुनिया को दिखा दें "ये गांधी का देश है'' : लालू

आओ मिलकर दुनिया को दिखा दें "ये गांधी का देश है

नई दिल्ली। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने शनिवार को कहा कि अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला हो उसका आदर करते हुए हमें एकता,भाईचारे और प्रेम के साथ अपना हर धर्म निभाना होगा। उन्होंने एक ट्वीट के जरिए अपनी बात कही। लालू ने ट्वीट में लिखा, "मानवता और संविधान भी हमारा धर्म है। हमें एकता,भाईचारे और प्रेम के साथ अपना हर धर्म निभाना है। जो भी फ़ैसला हो उसका आदर करते हुए हर हिंदुस्तानी का फ़ैसला शांति,एकता व अहिंसा के मार्ग पर चलने का ही होगा। आओ मिलकर दुनिया को दिखा दें "ये गांधी का देश है,यहाँ एकता का परिवेश है"।" चारा घोटाले के एक मामले में लालू फिलहाल जेल की सजा काट रहे हैं।

वहीं दूसरी ओर, राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद विवाद मामले में शनिवार सुबह उच्चतम न्यायालय का फैसला आने से पहले देश भर में सुरक्षा के सख्त इंतजाम किए गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विभिन्न धर्म गुरुओं ने लोगों से शांति बनाए रखने तथा न्यायालय के फैसले का सम्मान करने की अपील की है। दिल्ली में फैसला सुनाने वाली संविधान पीठ के पांचों न्यायाधीशों के आवास के बाहर शुक्रवार (8 नवंबर) से सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने यह जानकारी दी। इस संवेदनशील मामले में फैसला शनिवार (9 नवंबर) सुबह साढ़े दस बजे सुनाया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 8 नवंबर की देर शाम कहा कि अयोध्या पर उच्चतम न्यायालय का जो भी फैसला आएगा, वह किसी की हार-जीत नहीं होगा। प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार रात सिलसिलेवार ट्वीट कर यह अपील की। प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, "देश की न्यायपालिका के मान-सम्मान को सर्वोपरि रखते हुए समाज के सभी पक्षों ने, सामाजिक-सांस्कृतिक संगठनों ने, सभी पक्षकारों ने बीते दिनों सौहार्दपूर्ण और सकारात्मक वातावरण बनाने के लिए जो प्रयास किए, वे स्वागत योग्य हैं। कोर्ट के निर्णय के बाद भी हम सबको मिलकर सौहार्द बनाए रखना है।"

रामजन्म भूमि बाबरी मस्जिद विवाद मामले में उच्चतम न्यायालय के ऐतिहासिक फैसले से पहले अयोध्या छावनी में तब्ब्दील हो गयी है। जमीन से आसमान तक पुलिस निगरानी की व्यवस्था की गयी है। शहर के हर चौराहे पर सीसीटीवी कैमरे लगाये गये हैं। आसमान से ड्रोन कैमरे चप्पे-चप्पे पर नजर रखे हुए हैं। अयोध्या की सुरक्षा के प्रभारी एडीजी अभियोजन आशुतोष पांडेय ने 'भाषा' को फोन पर विशेष बातचीत में बताया, ''अयोध्या में सुरक्षा के लिये 60 कंपनी पीएसी और अर्धसैनिक बल तैनात किए गये हैं। इसमें 15 कंपनी पीएसी, 15 कंपनी सीआरपीएफ और 10 कंपनी आरएएफ हाल में अयोध्या आयी है जबकि 20 कंपनी पीएसी पहले से ही यहां तैनात थी। इसके अलावा दूसरे जनपदों से आये सुरक्षाकर्मियों में 1500 सिपाही, 250 सब इंस्पेक्टर, 150 इंस्पेक्टर, 20 डिप्टी एसपी, 11 एडिशनल एसपी तथा दो एसपी तैनात किये गये हैं। इसके अलावा अयोध्या के विभिन्न थानों में तैनात सुरक्षा बल तो पहले से ही यहां पर है।"

Updated : 9 Nov 2019 6:14 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top