Top
Home > राज्य > अन्य > बिहार > मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लगवाई कोरोना वैक्सीन, आगामी समय में सख्ती के दिए संकेत

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लगवाई कोरोना वैक्सीन, आगामी समय में सख्ती के दिए संकेत

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लगवाई कोरोना वैक्सीन, आगामी समय में सख्ती के दिए संकेत
X

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और दोनों डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी ने गुरुवार को इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (आईजीआईएमएस) पटना में कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज कोविशील्ड ली। उनके साथ सरकार के शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी और ऊर्जा मंत्री विजेंद्र यादव ने भी कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज ली है।

कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज लेने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि दुनियाभर में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा था कि राज्यपाल महोदय के स्तर पर सभी दलों की बैठक होनी चाहिए। हमलोगों ने राज्यपाल महोदय से बैठक के लिये आग्रह किया है। 17 अप्रैल को राज्यपाल के नेतृत्व में जो सर्वदलीय बैठक होगी उसमें सभी दलों के लोगों के जो सुझाव आयेंगे उसके आधार पर कदम उठायेंगे। बिहार में भी कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। इसको लेकर एक-एक चीज पर नजर रखी जा रही है।

सीएम ने कहा कि अधिक से अधिक टेस्ट कराये जा रहे हैं जितनी अधिक जांच होगी उतने ही कोरोना संक्रमितों की संख्या का पता चल पाएगा। जिन क्षेत्रों में कोरोना संक्रमितों का पता चल रहा है उन क्षेत्रों पर विशेष नजर रखी जा रही है। आरटीपीसीआर टेस्ट की संख्या बढ़ायी जा रही है। कोरोना जांच की संख्या राज्य में प्रतिदिन एक लाख से अधिक है, इसे और भी बढ़ाया जायेगा। सीएम ने कहा कि टीकाकरण भी हमलोग अधिक से अधिक कराएंगे ताकि कोरोना संक्रमण का असर लोगों पर कम से कम हो सके। उन्होंने कहा कि कोरोना देश के सभी राज्यों में फैल रहा है। एक जगह से दूसरी जगह लोग आ-जा रहे हैं। बिहार में बाहर से आने वाले लोगों की भी जांच की जा रही है। बाहर से आने वाले लोग अगर बिना कोरोना जांच कराए घर जाएंगे तो उनके संपर्क में आने वाले लोगों में कोरोना के खतरे की संभावना बनेगी। स्वास्थ्य विभाग, आपदा प्रबंधन विभाग के साथ-साथ पूरा प्रशासन मुस्तैदी से लगा हुआ है। सभी चीजों की लगातार समीक्षा की जा रही है।

डिप्टी सीएम ने कहा टीका पूर्णतया सुरक्षित -

उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने टीकाकरण के बाद कहा कि यह टीका पूर्णतया सुरक्षित है। उन्होंने लोगों से चरणबद्ध तरीके से कोरोना का टीकाकरण कराने की अपील की। साथ ही, कोरोना के बढ़ते संक्रमण से बचाव के लिए लोगों को सचेत और सतर्क रहने के साथ-साथ मास्क का उपयोग निश्चित रूप से करने की अपील की।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ने टीकाकरण अभियान की शुरुआत के साथ पहले ही दिन कोरोना वैक्सीन की पहली डोज ली थी । 1 मार्च को अपने जन्मदिन के मौके पर सीएम नीतीश ने कोरोना वैक्सीन की डोज ली थी । तब उनके साथ ही दोनों डिप्टी सीएम तारकेश्वर प्रसाद और रेणु देवी, मंत्री विजेन्द्र यादव और मंत्री विजय कुमार चौधरी ने भी पहली डोज ली थी। सीएम ने वैक्सीन की दूसरी डोज 44 दिनों बाद ली है।मुख्यमंत्री के साथ ही उनके सचिव दीपक कुमार ने प्रधान सचिव चंचल कुमार ने भी वैक्सीन की अंतिम डोज ले ली है। इस मौके पर बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे भी मौजूद रहे। अस्पताल के सुपरिटेंडेंट की मौजूदगी में डॉक्टरों की टीम ने मुख्यमंत्री समेत अन्य मंत्रियों को वैक्सीन लगाई।

पहले सीएम को 31 मार्च को लेनी थी दूसरी डोज -

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कोरोना की कोविशील्ड वैक्सीन ली है। चूंकि भारत सरकार ने वैज्ञानिक प्रमाणों को देखते हुए, कोविशील्ड की दो डोज के बीच का अंतराल बढ़ाने की एडवाजरी जारी कर दी है। यही वजह है कि 31 मार्च की बजाय सीएम ने 15 दिन बाद आज 15 अप्रैल को वैक्सीन की दूसरी डोज ली है। नई एडवाजरी के बाद कोविशील्ड की दूसरी डोज को पहली डोज के बाद 4-8 हफ्ते के अंतराल पर लगाने का सुझाव दिया गया है। इससे पहले यह अंतराल 4-6 हफ्तों का था।

Updated : 15 April 2021 10:42 AM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top