Top
Home > राज्य > अन्य > बिहार > बिहार : कोरोना कंट्रोल में नीतीश फेल, ऐक्शन में केंद्र

बिहार : कोरोना कंट्रोल में नीतीश फेल, ऐक्शन में केंद्र

पटना। बिहार में लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में स्थिति को और भी ज्यादा भयावह बना दिया है। पिछले कुछ दिनों से राज्य में प्रतिदिन एक हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीज पाए जा रहे हैं। इसे लेकर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर हमला और भी तेज कर दिया है। वहीं एनडीए में शामिल एलजेपी प्रमुख चिराग पासवान ने भी इशारों इशारों में कोरोना मामले पर नीतीश सरकार को घेरने की कोशिश की है।

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने एक बार फिर कोरोना मामले पर नीतीश सरकार को घेरने की कोशिश की है। तेजस्वी ने कहा कि अब तो केंद्र सरकार ने भी कोरोना मामले में केंद्रीय टीम को बिहार भेज कर, नीतीश कुमार को नकारा साबित कर दिया है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि, नीतीश सरकार में कोरोना पेशेंट के साथ ना सिर्फ खिलवाड़ किया जा रहा है, बल्कि संक्रमित मरीजों के आंकड़े में भी हेरा फेरी की जा रही है। तेजस्वी ने कहा कि बिहार सरकार का यही रवैया रहा तो, देश ही नहीं बल्कि कोरोना के मामले में बिहार ग्लोबल कैपिटल घोषित हो जाएगा। उन्होंने बिहार सरकार से प्रतिदिन 30 हजार से 35 हजार कोरोना टेस्ट कराने की मांग करने के साथ कहा कि अगस्त तक 1 लाख लोगों की टेस्टिंग हो ऐसी व्यवस्था होनी चाहिए।

कोरोना के प्रभाव को देखते हुए जमुई सांसद और एलजेपी प्रमुख चिराग पासवान ने भी चिंता जाहिर की है। एनडीए में शामिल एलजेपी प्रमुख चिराग पासवान ने भी इशारों इशारों में कोरोना मामले पर नीतीश सरकार को घेरने की कोशिश की है। पहले से ही नीतीश पर हमलावर चिराग पासवान ने बिहार में कोरोना संक्रमण की समीक्षा और हालात को काबू में करने के लिए केंद्रीय टीम भेजने का स्वागत किया है। उन्होंने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देते हुए यह जता दिया कि, कोरोना से निपटने में नीतीश सरकार फेल है। चिराग पासवान ने अपने ट्वीट में लिखा कि "कोरोना को बिहार में नियंत्रण में लाने के लिए व बिहारियों को इस महामारी के बढ़ते प्रकोप से बचाने के लिए केंद्र सरकार ने जो टीम बिहार भेजने का निर्णय लिया है, उसके लिए आदरणीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी और केंद्र सरकार को धन्यवाद."

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने बताया कि केंद्र एवं राज्य सरकार मिलकर कोविड-19 के रोकथाम के लिए सभी महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय की पैनी नजर बिहार के स्थिति पर है। यहां के आला अधिकारी लगातार संपर्क में रहते हैं। मौजूदा स्थिति को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा एक टीम बिहार पहुंच चुकी है। दूसरी उच्च स्तरीय टीम का गठन कर दिया गया है, जो रविवार को पहुंचेगी। यह टीम रविवार की सुबह संयुक्त सचिव लव अग्रवाल के नेतृत्व में पहुंचेगी। इस टीम में नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के डायरेक्टर डॉक्टर एस के सिंह, एम्स मेडिसिन के एसोसिएट प्रोफेसर डॉक्टर नीरज निश्चल शामिल हैं।

अश्विनी चौबे ने कहा कि केंद्र द्वारा हर संभव मदद बिहार को उपलब्ध कराई जा रही है। बिहार सरकार काफी गंभीर है। कोरोना को रोकने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं। बिहार वासियों को घबराने की आवश्यकता नहीं है। मौजूदा समय में डरे नहीं, बल्कि धैर्य और संयम के साथ दिशा निर्देशों का पालन करें, जो राज्य सरकार और केंद्र सरकार ने जारी किए हैं।

Updated : 2020-07-18T19:36:17+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top