Top
Home > Archived > हड़ताल के कारण छात्र हो रहे परेशान

हड़ताल के कारण छात्र हो रहे परेशान

हड़ताल के कारण छात्र हो रहे परेशान
X

परीक्षाओं में भी होगी देरी
ग्वालियर।
म.प्र. विश्वविद्यालयीन (गैर शिक्षक) कर्मचारी महासंघ के आह्वान पर जीवाजी विश्वविद्यालय सहित प्रदेश भर के विश्वविद्यालयों में कर्मचारियों की हड़ताल सोमवार को भी जारी रही। कर्मचारियों की हड़ताल से जीवाजी विवि की व्यवस्थाएं बिगड़ती जा रही हैं। विवि में अपनी समस्या लेकर पहुंच रहे छात्रों के कोई भी काम नहीं हो पा रहे हैं, जिससे छात्रों को परेशान होकर खाली हाथ लौटना पड़ रहा है। अपनी 17 सूत्रीय मांगों को लेकर जीवाजी विवि के सभी कर्मचारी विगत कई दिनों से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। इसी के चलते सोमवार को भी सभी कर्मचारी प्रशासनिक भवन के बाहर धरने पर बैठे रहे।

इस दौरान कर्मचारियों ने किसी भी कर्मचारी को अंदर नहीं जाने दिया। वहीं पांच कर्मचारियों की नियमित रूप से क्रमिक भूख-हड़ताल भी जारी है। हड़ताल के कारण विवि के परीक्षा, गोपनीय सहित अन्य सभी विभागों के काम पूरी तरह ठप हो गए हैं। छात्रों की न तो अंकसूचियां बन रहीं हैं और न ही उनमें करेक्शन हो पा रहे हैं। यहां तक कि नामांकन व परीक्षा फार्म तक छात्र नहीं भर पा रहे हैं। हड़ताल का असर परीक्षाओं पर भी पड़ रहा है। इसी माह से शुरू होने वाली प्राइवेट परीक्षाओं को भी विवि को आगे बढ़ाना पड़ेगा। कर्मचारियों का कहना है कि जब तक हमारी प्रमुख मांगों पर अमल नहीं हो जाता है, तब तक हड़ताल जारी रहेगी।

मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर बढ़ती शिकायतों ने बढ़ाई चिंता
हड़ताल के कारण जीवाजी विवि में मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर शिकायतों की संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है। इसको लेकर विवि के अधिकारी काफी चिंतित हैं, लेकिन अधिकारियों के चिंतित होने का कोई नतीजा निकलकर सामने नहीं आ पा रहा है। अधिकारी दिन भर सीएम हेल्पलाइन पर लगी शिकायतों का निराकरण खोजते रहते हैं, लेकिन कर्मचारी वर्ग के हड़ताल पर होने के कारण अधिकारी समस्या का निराकरण नहीं कर पा रहे हैं। इस कारण सीएम हेल्पलाइन में एल-1 पर 294, एल-2 पर 110, एल-3 पर 182 तथा एल-4 पर 92 शिकायतें इस समय लंबित चल रही हैं।

Updated : 2018-03-27T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top