Top
Home > Archived > देशभर के 500 गांवों को 'संपूर्ण योग ग्राम' में बदलने की तैयारी

देशभर के 500 गांवों को 'संपूर्ण योग ग्राम' में बदलने की तैयारी

देशभर के 500 गांवों को संपूर्ण योग ग्राम में बदलने की तैयारी
X

नई दिल्ली| केंद्रीय आयुष मंत्रालय ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (21 जून) से पहले देशभर के 500 गांवों को 'संपूर्ण योग ग्राम' बनाने का अभियान शुरू किया है। इन गांवों में हर घर का कम से कम एक सदस्य नियमित रूप से योग करने वाला होगा।
मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि इस कार्यक्रम की प्रेरणा केरल के कुन्नमथनम गांव से मिली है जहां ग्राम पंचायत ने यह कार्यक्रम शुरू किया है। दरअसल, राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति-2017 में उपचार की बजाय स्वस्थ रहने और रोगों की रोकथाम पर ही जोर दिया गया है। प्रत्येक 'संपूर्ण योग ग्राम' में एक अनुसंधान प्रसार इकाई होगी ताकि स्वास्थ्य मानकों का समय-समय पर आकलन किया जा सके।

उधर, इस साल अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मुख्य कार्यक्रम के आयोजन के लिए मंत्रालय ने चार शहरों (जयपुर, हैदराबाद, अहमदाबाद और मैसूर) की सूची तैयार की है। इनके नाम अब प्रधानमंत्री कार्यालय को भेजे जाएंगे। वही अब इनमें से एक शहर का चुनाव मुख्य कार्यक्रम के लिए करेगा। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मुख्य कार्यक्रम से पहले 21 से 23 मार्च तक दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में अंतरराष्ट्रीय योग उत्सव का आयोजन होगा। इसके बाद विभिन्न स्थानों पर 10 राज्यस्तरीय उत्सवों का आयोजन किया जाएगा। विभिन्न भारतीय दूतावासों में भी 100 योग शिक्षक नियुक्त किए गए हैं।

Updated : 2018-03-20T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top