Latest News
Home > Archived > भारतीय चावल को खाड़ी देशों में मिलेगा नया बाजार

भारतीय चावल को खाड़ी देशों में मिलेगा नया बाजार

भारतीय चावल को खाड़ी देशों में मिलेगा नया बाजार
X

ई बड़े सौदे किये हैं जिससे खाड़ी देशों इराक, ओमान, कतर और सउदी अरब में भारतीय बासमती और गैर-बासमती चावल की मांग बढ़ सकती है।

ओमान के संघीय लोक खाद्य रिजर्व को पाकिस्तान 1.8 लाख टन चावल का निर्यात करता है जबकि भारत केवल 20,000 टन चावल ही ओमन को बेच पाता है। लेकिन, वर्ष 2018 में भारत से ओमान को निर्यात होने वाले चावल की मात्रा बढ़कर 50 हजार टन तक पहुंचने की उम्मीद है। ओमान की लोक खाद्य स्टॉक होल्डिंग कंपनी ने भारत से बासमती चावल खरीदने की इच्छा जतायी है। इसके तहत उसने अपने टेंडर सूची में भारत में विकसित 1121 प्रीमियम बासमती वेरायटी को शामिल किया है।

भारतीय चावल निर्यात को लेकर हुये सौदे को इंडस फूड सम्मेलन की सबसे बड़ी उपलब्धि बताया है। भारतीय निर्यातकों को विदेशी कंपनियों से 50 करोड़ डॉलर के आॅर्डर मिले हैं। आने वाले समय में भारत से खाद्य निर्यात को करीब दो अरब डॉलर तक पहुंच जायेगा। इसकी वजह यह है कि कई ऐसे सौदे हैं जिन पर बातीचत शुरू हो गई है और आने वाले दिनों में वे भी एक करार के रूप में सामने आएंगे।
सिंगला ने इंडस फूड के अन्य प्रमुख बिंदुओ की जानकारी देते हुए कहा कि कतर ने 12.3 करोड़ डॉलर के सौदों की जानकारी दी है। सउदी अरब की कंपनी ने सोयाबिन खली और मत्स्य फीड के करीब पांच करोड़ डॉलर के सौदे पर हस्ताक्षर किये हैं। इसी तरह से इराक ने खुली निविदा के जरिये भारत से एक लाख टन गैर-बासमती चावल गेहूँ खरीदने का भी इरादा व्यक्त किया है।

Updated : 2018-01-21T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top