Home > Archived > फिर दिखेगी मजदूरों की मेहनत व कर्मठता की झांकी

फिर दिखेगी मजदूरों की मेहनत व कर्मठता की झांकी

इंदौर। शहर की ऐतिहासिक परंपरा मंगलवार की रात एक बार फिर देखने को मिलेगी। वर्षों पहले बंद हो गई मिलों में मजदूरों ने अपनी मेहनत और कर्मठता से झांकियों को रंग रूप दिया और कल शाम से देर रात तक ये झाकियां शहर की सड़कों पर मजदूरों की कला का बखान करेगी। मंगलवार की रात अनंत चतुर्दशी के मौके पर निकलने वाले झांकियों के चल समारोह को लेकर जिला प्रशासन, पुलिस और नगर निगम ने लगभग सभी तैयारियां पूरी कर ली है।
झांकियों की व्यवस्था में पुलिस प्रशासन और नगर निगम के लगभग चार हजार अधिकारी, कर्मचारी तैनात रहेंगे। दोपहर से रात तक अधिकारियों, कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। लाखों लोग शहर की ऐतिहासिक परंपरा को निहारने के लिए मिल क्षेत्र, जेल रोड, जवाहर मार्ग, एमजी रोड, सीतलामाता बाजार, सदर बाजार, राजबाड़ा पर मौजूद रहेंगे। नगर निगम के पांच झोन कार्यालय के अंतर्गत सबसे ज्यादा अधिकारी, कर्मचारी तैनात किए गए है।
पूरी रात लोग करेंगे रतजगा

11 दिनी गणेश उत्सव का आज आखिरी दिन है और मंगलवार को 25 झांकियों का कारवां एक बार फिर शहर की सड़कों पर निकलेगा। मजदूरों ने अपनी मेहनत और कला से झांकियों को निखारा है। प्रशासन, नगर निगम और पुलिस के अधिकारी शहर के इस सबसे बड़े आयोजन की तैयारी लगभग पूरी कर चुके है। पूरी रात लाखों लोग रतजगा करते हुए नयनाभिराम झांकियों को देखेंगे। लगभग तीन हजार अधिकारी, कर्मचारी इस पूरे आयोजन में लगे है। कलेक्टर निशांत वरवड़े ने सभी एसडीएम, तहसीलदार, राजस्व निरीक्षक, पटवारियों की जहां ड्यूटी लगाई है। वहीं निगम आयुक्त मनीष सिंह ने भी एडिशनल कमिश्नर, डिप्टी कमिश्नर, झोनल अधिकारी, स्वास्थ्य अधिकारी, दरोगा आदि को तैनात किया है।

पांच झोनों में झांकी मार्ग बंटा
नगर निगम के अपर आयुक्त संतोष टैगोर ने बताया कि झोन क्रमांक 1, 2, 3, 4, 6 और 12 के अधिकारियों को मुख्य रूप से झांकी चल समारोह में तैनात किया गया है। झोन के सभी कर्मचारी शाम से रात तक कई स्थान पर अपनी ड्यूटी करेंगे। साफ-सफाई, सौंदर्यीकरण, अतिक्रमण, कब्जे, पानी की व्यवस्था, बिजली, पार्किंग आदि के लिए अधिकारी, कर्मचारी तैनात रहेंगे। इसके अलावा सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्रा ने एसपी, एएसपी, सीएसपी, डीएसपी, थाना प्रभारी सहित सैकड़ों की संख्या में जवान लगाए है। वॉच टॉवर और सीसीटीवी कैमरों से झांकी चल समारोह पर बारिकी से नजर रखी जाएगी।

93 खतरनाक मकानों में से सबसे अधिक झांकी मार्ग पर
अनंत चतुर्दशी के मौके पर कल शहर में झांकियों का कारवां निकलेगा और लाखों लोग ऐतिहासिक परंपरा को निहारेंगे। प्रशासन, पुलिस और नगर निगम ने जहां तैयारी पूरी कर ली हैं। वहीं एक बार फिर झांकी मार्ग के खतरनाक मकान लोगों के लिए खतरा बन सकते है। निगम ने मकान मालिकों को नोटिस देकर पल्ला झाड़ लिया। दो वर्ष पहले आखिरी नोटिस दिया गया था। कुल खतरनाक मकानों में से लगभग 80 फीसदी मकान झांकी मार्ग पर है। अधिकारी इन मकानों को तोडऩे या खाली कराने की जहमत नहीं उठाते है। झांकी मार्ग पर जो खतरनाक मकान वर्षों से खड़े है उन्हें नहीं तोड़ा जा रहा है। अधिकारियों का कहना है कि मकानों पर निगमकर्मी तैनात रहेंगे और सूचना बोर्ड भी लगेगा। लेकिन सवाल यह उठता है कि नोटिस देने के बावजूद भी कार्रवाई क्यों नहीं की जाती है। आखिरी नोटिस 2015 में दिए गए थे। कुछ मकानों में न्यायालयीन प्रकरण लंबित है लेकिन शेष मकानों में तो कार्रवाई हो सकती है। भवन अधिकारी इस लापरवाही में सबसे ज्यादा जिम्मेदार है। अपर आयुक्त देवेन्द्र सिंह ने बताया कि बीओ, बीआई को निर्देश दिए गए है, जहां आवश्यकता होगी वहां जर्जर मकान तोड़ेंगे। इसके अलावा कर्मचारी भी तैनात रहेंगे। रिमूव्हल और कोंदवाड़ा विभाग की टीमें सतत झांकी मार्ग पर काम करेंगी।

दो हजार पुलिसकर्मी रहेंगे तैनात, वॉच टावरों से निगरानी
अनंत चतुदर्शी पर मंगलवार को निकलने वाली परम्परागत झांकी के लिए पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था के माकूल इंतजाम किए हैं। पूरे झांकी मार्ग पर सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस ने दो हजार पुलिस बल लगाया है। वहीं पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी भी जगह-जगह पर तैनात रहकर व्यवस्थाओं का जायजा लेंगे। इसके लिए जगह-जगह पर वॉच टावर भी लगाए गए हैं।

रात के लेकर सुबह तक झांकी निहाने के लिए दूर-दराज से हाजरों की संख्या में लोग आते है। वहीं सड़कों पर पूरी रात रतजगा होता है। ऐसे में सुरक्षा व्यवस्था भी जरूरी है। डीआईजी हरिनारणचारी मिश्र के अनुसार पूरे झांकी मार्ग को 10 सेक्टरों में बांटा गया है। झांकी मार्ग पर निगरानी रखने के लिए 30 टॉवर लगाए गए है, जहां से पुलिसकर्मी मुतैदी के निगरानी करेगे। इसके अलावा छह ड्रोन कैमरे भी लगाए जाएंगे। वहीं इस इलाके में 30 सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जाएंगे। झांकी के दौरान सुरक्षा की कमान 2 हजार पुलिस अधिकारी और कर्मचारियों के हाथों में रहेगी। इसके अलावा 500 पुलिस जावानों का अतिरिक्त बल भी लगाया जाएगा।
सीएसपी स्तर के अधिकारी संभालेंगे कमान
10 सेक्टर में बांटे गए झांकी मार्ग के प्रत्येक सेक्टर की कमान सीएसपी स्तर के अधिकरी के जिम्मे होगी। वहीं उनके साथ 50 थाना प्रभारी भी पूरी रात मुस्तैदी से मौर्चा सम्भालेंगे। दो एसपी के अलावा वरिष्ठ अधिकारी भी झांकी

Updated : 2017-09-04T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top