Top
Home > Archived > अमित शाह ने कहा - व्यवस्था को बदलने व विकास की पटरी पर ले जाने के लिए परिवर्तन जरूरी

अमित शाह ने कहा - व्यवस्था को बदलने व विकास की पटरी पर ले जाने के लिए परिवर्तन जरूरी

अमित शाह ने कहा - व्यवस्था को बदलने व विकास की पटरी पर ले जाने के लिए परिवर्तन जरूरी

धर्मशाला। हिमाचल की व्यवस्था को बदलने और विकास की पटरी पर ले जाने के लिए परिवर्तन जरूरी है। भ्रष्टाचार, बलात्कार और माफिया सरकार को बदलने का समय अब आ गया है। यह बात भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कांगड़ा में युवा मोर्चा की युवा हुंकार रैली को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि परिवर्तन सिर्फ सरकार या मुख्यमंत्री के बदलाव के लिए नही बल्कि हिमाचल के विकास और बेहतरी के लिए करना है।

शाह ने मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने जितनी भी योजनाएं दी हैं, उन्हें सिर्फ पंक्चर करने का काम किया है। हिमाचल को शांता और धूमल जैसे मुख्यमंत्रियों की जरूरत है न कि वीरभद्र जैसे मुख्यमंत्री की। उन्होंने कहा कि हिमाचल को ऐसा मुख्यमंत्री चाहिए जोकि केंद्र सरकार की मदद करके विकास में योगदान दे।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि हिमाचल में शांता को पानी और धूमल को सड़कों के मुख्यमंत्री के रूप में पहचाना जाता है लेकिन वीरभद्र सिंह ऐसे मुख्यमंत्री रहे हैं जिन्हें सिर्फ भ्रष्टाचार के लिए जाना जाता है। वीरभद्र की गलत नीतियों और भ्रष्टाचार के कारण हिमाचल वर्तमान में 46 हजार करोड़ का कर्ज चढ़ चुका है।

शाह ने कहा कि मोदी ने प्रधानमंत्री बनते ही देश विकास की राजनीति शुरू की है लेकिन हिमाचल के मुख्यमंत्री ने भ्रष्टाचार का दाग लगने के बाद भी इस्तीफा न देने की शुरुआत की है। वीरभद्र पर जितने भी भ्रष्टाचार के आरोप लगा लो वह उन्हें अपनी छाती पर तमगों की तरह लगाकर घूमते हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार प्रदेश को 106 योजनाओं से जोड़ चुकी है लेकिन वीरभद्र सिंह की सरकार इन योजनाओं को जमीनी स्तर पर लागू नही कर रही है। उन्हें डर है कि कहीं यह योजनाएं आम लोगों तक पंहुच जाएंगी तो इसका सारा श्रेय मोदी सरकार को चला जाएगा।

अपने करीब 15 मिनट के संबोधन में अमित शाह ने मुख्यमंत्री वीरभद्र पर निशाना साधने के साथ साथ मोदी सरकार की नीतियों का भी बखान किया। उन्होंने मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह को केंद्र सरकार की ओर से दी गई आर्थिक मदद का भी लेखा-जोखा रखा। उन्होंने कहा कि वीरभद्र सिंह हमेशा कहते रहते हैं कि मोदी सरकार हिमाचल को कोई आर्थिक मदद नही दे रही है लेकिन हकीकत यह है कि पूर्व में 10 सालों तक लगातार दो बार केंद्र में रही यूपीए सरकार की अपेक्षा में मोदी सरकार ने तीन सालों में ही उन्हें कई गुणा ज्यादा आर्थिक मदद दी है। उन्होंने पूर्व यूपीए सरकार द्वारा दी गई मदद की तुलना करते हुए कहा कि मोदी सरकार ने केंद्रीय योजनाओं के लिए प्रदेश को 90 प्रतिशत अनुदान दिया जा रहा है। उन्होंने आंकड़े पेश करते हुए कहा कि मोदी सरकार ने यूपीए के हिमाचल को 10 हजार करोड़ की आर्थिक सहायता के मुकाबले 28 हजार करोड़ कर दिया गया। अनुदान सहायता को 10 हजार करोड़ से बढ़ाकर 41 हजार करोड़ कर दिया गया। स्थानीय निकाय अनुदान को 642 करोड़ से बढ़ाकर 2012 करोड़ कर दिया गया। वहीं 13वें वित्तायोग 44235 करोड़ की अपेक्षा 14वें वितायोग में प्रदेश को 1,15,846 करोड़ रुपये देने का प्रावधान किया गया है जिसमें 71611 करोड़ ज्यादा है। उन्होंने कहा कि मैंने तो अपना हिसाब वीरभद्र सिंह को दे दिया अब उन्हें अपना हिसाब प्रदेश की जनता को देना होगा। इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल, शांता कुमार, जे.पी. नड्डा, हिमाचल चुनाव प्रभारी थावर चंद गहलोत, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतपाल सत्ती, सांसद अुराग ठाकुर, राम स्वरूप शर्मा, विरेंद्र कश्यप तथा भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष विशाल शर्मा सहित अन्य नेताओं ने भी रैली को संबोधित किया।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कांगड़ा रैली से ‘हिसाब मांगे हिमाचल’ अभियान की शुरुआत की। उन्होंने इस अभियान को सफल बनाने के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं से पूरी निष्ठा के साथ काम करने को कहा। उन्होंने रैली में उमड़ी भीड़ को इस अभियान से जुड़ने के लिए मोबाइल नम्बर 757408068 दिया तथा इस पर मिसड कॉल करने की बात कही। उन्होंने कहा कि इस अभियान से प्रदेश के सभी लोगों को जोड़ा जाए ताकि आने वाले चुनावों में परिवर्तन हो सके।

अमित शाह ने कांगड़ा रैली के दौरान युवा मोर्चा द्वारा कांग्रेस सरकार के खिलाफ तैयार की गई एनीमेटिड चार्जशीट का भी अनावरण किया। इस चार्जशीट में कांग्रेस सरकार के खिलाफ कई तरह के गंभीर आरोप लगाए गए हैं। चार्जशीट के जरिए सरकार पर माफिया, भ्रष्टाचारी, युवा विरोधी, सरकारी व्यवस्था का चरमराना, गुंडागर्दी, महिलाओं की सुरक्षा पर प्रश्नचिन्ह तथा किसान विरोधी होने के आरोप जड़े हैं। इस मौके पर अमित शाह ने भाजपा के ‘ऑनलाइन डोनेशन’ पोर्टल का भी शुभांरभ किया।

शाह ने कहा कि पूर्व में भाजपा के मुख्यमंत्रियों शांता कुमार ने पानी व धूमल ने सड़क के मामले में एक नई पहचान बनाई है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि राजनीति में वीरभद्र सिंह ने भ्रष्टाचार के आरोप लगने पर भी त्याग पत्र न देकर एक नई शुरुआत की है । उन्होंने कहा कि अब हिमाचल की जनता समझ चुकी है और प्रदेश में परिवर्तन का समय आ गया है। शाह ने हिमाचल को सभी लोगों को भाजपा द्वारा चलाए गए हिमाचल मांगे हिसाब से जुड़ने के लिए कहा। शाह ने कहा कि देश में प्रधानमंत्री मोदी के विकास की गाड़ी चल रही है जबकि हिमाचल का विकास रुका हुआ है। क्योंकि केन्द्र की सरकार को हिमाचल में मदद करने वाला मुख्यमंत्री नहीं है।

Updated : 2017-09-22T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top