Home > Archived > फाइलें गायब करने वालों को जेल भिजवाऊंगा: सिंह

फाइलें गायब करने वालों को जेल भिजवाऊंगा: सिंह

फाइलें गायब करने वालों को जेल भिजवाऊंगा: सिंह
X

-राजस्व न्यायालयों में मुख्य सचिव को मिली गड़बड़ियां
एसडीएम लश्कर विजयराज के न्यायालय में प्रकरणों का अवलोकन करते मुख्य सचिव।

ग्वालियर। राजस्व न्यायालयों में जितनी गड़बड़ियां हैं, उन्हें आप लोग ठीक कर लें। जिन प्रकरणों की फाइलें और दस्तावेज गायब हैं, उन्हें रिकार्ड रूम अथवा अलमारियों में खोज लें। इस बार सिर्फ चेतावनी देकर छोड़ रहा हूँ। दो माह बाद फिर आउंगा। उस समय मुझे अगर गड़बड़ियां मिली तो न केवल सख्त कार्रवाई करूंगा बल्कि फाइलें गायब करने वाले अधिकारियों को बर्खास्त कर, उनके विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराकर उन्हें जेल भिजवाउंगा। प्रदेश के मुख्य सचिव वसंत प्रताप सिंह ने बुधवार शाम तहसील और अनुविभागीय अधिकारियों के राजस्व न्यायालयों के निरीक्षण के दौरान गड़बड़ियां मिलने पर कही।

राजस्व न्यायालयों में लंबित प्रकरणों के निरीक्षण एवं राजस्व वसूली के लिए स्थानीय अधिकारियों को कसने के उद्देश्य से ग्वालियर-चम्बल संभाग के तीन दिवसीय प्रवास पर आए मुख्य सचिव वसंत प्रताप सिंह ने ग्वालियर पहुंचते ही तहसीलों और राजस्व के अनुविभागीय अधिकारियों के न्यायालय में पहुंचकर निरीक्षण किए। देर रात तक चले निरीक्षण में मुख्य सचिव ने कड़े तेवर दिखाए। विभिन्न राजस्व न्यायालयों से गायब कई फाइलों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए मुख्य सचिव ने संभागायुक्त एस.एन.रूपला और जिलाधीश राहुल जैन को निर्देश दिए कि किसी जिम्मेदार अधिकारी के नेतृत्व में एक टीम गठित करें। यह टीम रिकार्ड रूम सहित विभिन्न न्यायालयों से फाइलों को खोजे। अगर इसके बाद भी खोई हुई फाइलें नहीं मिलती हैं तो यह पता करें कि यह फाइल अथवा प्रकरण किस अधिकारी के समय में गायब हुए हैं। उस अधिकारी के खिलाफ तुरंत प्राथमिकी दर्ज कराएं। ऐसे अधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई के लिए शासन को प्रस्ताव भेजें।

मुख्य सचिव ने सबसे पहले मुरार स्थित उप तहसील (टप्पा) में निरीक्षण किया। इसके बाद गोरखी स्थित एसडीएम लश्कर विजय राज के राजस्व न्यायालय में निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने गोरखी परिसर में तहसीलदार भूपेन्द्र कुशवाह सहित अन्य सभी नायब तहसीलदारों के राजस्व न्यायालय संबंधी फाइलों का निरीक्षण किया। सभी न्यायालय में लंबित प्रकरणों पर उन्होंने फटकार भी लगाई तथा कुछ पुराने लंबित प्रकरणों एवं न्यायालयीन प्रक्रिया के कारण उलझे हुए प्रकरणों में निर्णय करने का रास्ता भी सुझाया। गोरखी परिसर में निरीक्षण के बाद मुख्य सचिव ने जिलाधीश कार्यालय परिसर में स्थित विभिन्न राजस्व न्यायालयों का निरीक्षण भी किया। निरीक्षण के दौरान मुख्य सचिव के साथ भारतीय प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी अरुण पाण्डेय, हरिरंजन राव, पी नरहरि व रजनीश श्रीवास्तव भी मौजूद रहे।

मुख्य सचिव का दौरा कार्यक्रम

मुख्य सचिव 24 अगस्त को प्रात: 9.30 बजे से ग्वालियर संभाग के राजस्व अधिकारियों की बैठक लेंगे। वह 25 अगस्त को मुरैना पहुंचेंगे और प्रात: 9.30 बजे से चंबल संभाग के राजस्व अधिकारियों की बैठक लेंगे। मुरैना प्रवास के दौरान मुख्य सचिव राजस्व न्यायालयों का निरीक्षण भी करेंगे। मुख्य सचिव शाम को वापस ग्वालियर लौटेंगे और हैलीकॉप्टर से भोपाल रवाना होंगे।

Updated : 2017-08-24T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top