Home > Archived > भिंड रेल मार्ग पर बिना टिकट यात्रियों का खौफ

भिंड रेल मार्ग पर बिना टिकट यात्रियों का खौफ

भिंड रेल मार्ग पर बिना  टिकट यात्रियों का खौफ
X

पिटने से डरता है चैकिंग स्टॉफ


ग्वालियर,न.सं.। भिंड-मुरैना का नाम सामने आते ही लोगों के चेहरों पर एक दहशत सी नजर आने लगती है। कभी डकैतों से कुख्यात रहा यह इलाका भले ही दस्यु विहीन हो चुका हो, लेकिन इस क्षेत्र में ट्रेनों में बिना टिकट यात्रा करने वाले यात्री आज भी दंबगई और गुंडागर्दी के बल पर बिना टिकट यात्रा कर रहे हैं। ट्रेनों में बिना टिकट यात्रा करने वाले यात्रियों का इतना खौफ होता है कि रेलवे टीटीई तथा चैकिंग स्टॉफ भी इस रेल मार्ग पर चैकिंग करने से डरते हैं। बिना टिकट यात्रियों से जहां ट्रेनों में सवार होने वाले टिकटधारी यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है, वहीं प्रतिमाह रेलवे को लाखों रूपए के राजस्व का नुकसान हो रहा है। ग्वालियर से भिंड, इटावा, मुरैना तथा शिवपुरी की ओर जाने वाली पैसेंजर और एक्सप्रेस ट्रेनों में बिना टिकट यात्रियों की काफी संख्या रहती है।

खासतौर पर भिंड रेल मार्ग बिना टिकट यात्रियों के लिए स्वर्ग के समान हो गया है। वहीं ग्वालियर रेलवे स्टेशन से दिल्ली, भिंड, शिवपुरी के लिए जाने वाली अधिकतर ट्रेनें सुबह 6 से 8 बजे के बीच रवाना होती हैं। इसी बीच एक नैरोगेज ट्रेन भी सबलगढ़ की ओर जाती है। इन दो घंटों में स्टेशन से करीब 10 हजार यात्री ट्रेनों में सवार होते हैं, लेकिन उन्हें टिकट के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। हालांकि रेलवे समय - समय पर बड़ी कार्रवाई करता है, लेकिन उस कार्रवाई की भनक यात्रियों को पहले ही लग जाती है।

Updated : 2017-06-24T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top