Top
Home > Archived > अब तारघर भी दे दिया किराए पर

अब तारघर भी दे दिया किराए पर

अब तारघर भी दे दिया किराए पर

ग्वालियर। अपनी स्पष्टवादिता के लिए पहचाने जाने वाले भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं राज्यसभा सांसद प्रभात झा ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं गुना सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया पर पुरातत्व महत्व की इमारत तारघर को 24 लाख रुपए वार्षिक किराए पर दिए जाने का आरोप लगाया है। उन्होंने पुरातत्व विभाग से भी आग्रह किया है कि यह पुरातत्व विभाग की इमारत सिंधिया की कैसे हो गई? इसकी जांच की जाना चाहिए।

श्री झा ने कहा कि सिंधिया का पूरा महल ही विवाद में है। ग्वालियर में जयेन्द्रगंज क्षेत्र में महल से लगी पुराने तारघर की इमारत को सिंधिया ने कांग्रेस से जुड़े अनिल पुनियानी व उनके साथियों को 24 लाख रुपए वार्षिक किराए पर दे दिया है, जो इस पुरातत्व महत्व की इमारत को संधारित कर होटल बनाएंगे एवं उसके सामने स्थित मैदान पर मैरिज गार्डन बनाने की कवायद शुरू कर दी गई है। श्री झा ने इस मामले को लेकर सवाल उठाया है कि जब ऐतिहासिक व पुरातत्विक धरोहरों के साथ छेड़छाड़ की जाएगी तो ऐसे में ग्वालियर का भविष्य क्या होगा।

शिवपुरी में कब्जाई 700 एकड़ भूमि

सांसद श्री झा ने लगभग पांच वर्ष पूर्व भी सिंधिया पर शिवपुरी में गरीबों व आदिवासियों की सात सौ एकड़ जमीन पर कब्जा करने का आरोप लगाया था, वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी विगत् दिनों यही आरोप सिंधिया पर लगाए हैं। इसे लेकर श्री झा का कहना है कि मैंने जो कहा था, वही मुख्यमंत्री ने भी कहा है, जो कि बिल्कुल सत्य है। मध्यप्रदेश में जब मध्य भारत शासन था, तब उक्त जमीन मध्य भारत सरकार की थी। उन्होंने कहा कि हम यह जानना चाहते हैं कि मध्य भारत शासन की वह जमीन अब ज्योतिरादित्य सिंधिया की कैसे हो गई, और इनके कागजों में हेरा-फेरी किसने की है। उन्होंने कहा कि हमारे पास सारे कागजात हैं। यह जमीन गरीबों व आदिवासियों की है। श्री झा ने बताया कि इस मामले में शिवपुरी कलेक्टर को भी पत्र लिखा है और इसे लेकर सिंधिया पर अवश्य कार्रवाई होगी।

Updated : 2017-05-16T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top