Top
Home > Archived > अब उत्तरी बाई पास को दौड़ेंगे अफसर

अब उत्तरी बाई पास को दौड़ेंगे अफसर

♦ इसी माह प्रारम्भ होगा सर्वे, सालभर चलेगा

♦ केन्द्रीय परिवहन मंत्री ने की थी घोषणा

आगरा। शहर के प्रमुख चौराहों को जाम से राहत दिलाने के प्रयास तेज हो गए हैं। उत्तरी बाइपास को अब अफसर दौडऩे जा रहे हैं। इस माह के अंत में सर्वे का कार्य शुरू हो जाएगा, जो इस साल तक पूरा होगा।

आगरा में डायमंड सर्किल बनाया जा रहा है। इससे भारी वाहन शहर के बीच से नहीं गुजर सकेंगे। इससे जाम लगने की आशंका भी कम रहेगी। उत्तरी बाइपास बनने से अलीगढ़, बरेली, कानपुर सहित अन्य शहरों के लिए वाहन आसानी से गुजर सकेंगे। इससे शहरी क्षेत्र में प्रदूषण भी कम होगा। उत्तरी बाइपास की घोषणा दस दिसंबर को आगरा आए केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने की थी। उन्होंने कहा था कि सड़क परिवहन राजमार्ग मंत्रालय से बाइपास की सैद्धांतिक मंजूरी मिल गई है। 25 किमी लंबे बाइपास के निर्माण में 375 करोड़ रुपये खर्च होंगे। सोमवार को लखनऊ में जोन की बैठक हुई, जिसमें उत्तरी बाइपास, आगरा-इटावा नेशनल हाईवे का चौड़ीकरण सहित अन्य पर चर्चा की गई। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) आगरा खंड के परियोजना निदेशक एसबी सिंह ने बताया कि इसी माह से सर्वे शुरू होगा, जो छह माह तक पूरा कर लिया जाएगा।

रुनकता से निकल रहा बाईपास

उत्तरी बाइपास रुनकता के समीप से निकल रहा है। यह यमुना एक्सप्रेस वे व अलीगढ़ रोड में जाकर मिलेगा।

यमुना नदी पर अब तेजी से बनेगा पुल

एनएचएआई आगरा खंड यमुना नदी पर अब तेजी से तीसरे पुल का निर्माण शुरू करने जा रहा है। नदी के जलस्तर में कमी आने से कार्य में दिक्कत भी नहीं होगी। एनएचएआई आगरा खंड के परियोजना निदेशक एसबी सिंह ने बताया कि मशीनें आगरा पहुंच चुकी हैं।

नेशनल हाईवे के चौड़ीकरण का कार्य तेज

इटावा नेशनल हाईवे टू के चौड़ीकरण का कार्य तेजी से होगा। चौड़ीकरण के तहत फीरोजाबाद पर रिंग रोड बनाया जा रहा है। आगरा से एत्मादपुर के बीच जल्द ही कार्य शुरू होगा।

Updated : 2017-02-15T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top