Latest News
Home > Archived > बीईओ तरेटिया निलंबित

बीईओ तरेटिया निलंबित

बीईओ तरेटिया निलंबित
X

-मामला एक माह में दो बार वेतन देने का
ग्वालियर। अप्रैल माह में अध्यापक संवर्ग के 28 शिक्षकों का दो बार वेतन निकालने के आरोप में शुक्रवार को आयुक्त लोक शिक्षण भोपाल ने ग्वालियर के विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी (बीईओ) आर.एस. तरेटिया को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर उन्हें जिला शिक्षा कार्यालय में अटैच कर दिया है।

उल्लेखनीय है कि विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी आर.एस. तरेटिया ने शा.उ.मा.विद्यालय गोरखी संकुल के अध्यापक संवर्ग के 28 शिक्षकों को अप्रैल माह में दो बार क्रमश: 10 लाख 34 हजार 784 रुपए का आहरण कर दिया। ‘स्वदेश’ को जब इसकी जानकारी मिली तो ‘स्वदेश’ ने लगातार पांच दिन तक इस मामले को प्रकाशित कर भोपाल के उच्च अधिकारियों को अवगत कराया। जिस पर शिक्षा विभाग की प्रमुख सचिव श्रीमती दीप्ति गौड़ मुखर्जी ने तीन सदस्यीय जांच समिति भोपाल भेजकर गहराई से छानबीन कराई। जांच के बाद एक माह में दो बार साढ़े-साढ़े दस-दस लाख के भुगतान को गंभीर लापरवाही का दोषी मानते हुए आहरण एवं संवितरण अधिकारी बी.ई.ओ. आर.एस. तरेटिया को

शुक्रवार को निलंबित कर दिया गया।

विभाग में मची खलबली:-आर.एस. तरेटिया के निलम्बन आदेश जारी होते ही शिक्षा विभाग में जबरदस्त खलबली मच गई। इस दौरान सभी कर्मचारी और अधिकारी इस मामले को लेकर आपस में चर्चा करते हुए पाए गए।

भृत्य मुकेश राठौर पर भी गिर चुकी है गाज

शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने दो बार वेतन जारी करने वाले मामले में अपने आप को दण्डात्मक कार्रवाई से बचाने के लिए शासकीय माध्यमिक विद्यालय जनकगंज में भृत्य के पद पर कार्य करने वाले एवं कम्प्यूटर का कार्य भी देखने वाले मुकेश राठौर को बलि का बकरा बनाते हुए उनकी एक वेतन वृद्धि भी रोकी जा चुकी है।

Updated : 2017-11-25T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top