Top
Home > Archived > दिवाली से पहले प्रदेश सरकार भी कम कर सकती है पेट्रोल-डीजल पर वैट

दिवाली से पहले प्रदेश सरकार भी कम कर सकती है पेट्रोल-डीजल पर वैट

दिवाली से पहले प्रदेश सरकार भी कम कर सकती है पेट्रोल-डीजल पर वैट
X

भोपाल। केंद्र द्वारा पेट्रोल-डीजल से एक्साइज ड्यूटी कम किए जाने के बाद अब मध्यप्रदेश सरकार ने भी इन पर से वैट कम करने के संकेत दिए हैं। यदि प्रदेश सरकार इसी रवैये पर कायम रहती है, तो प्रदेश के लोगों को दीपावली से पहले सस्ता-पेट्रोल डीजल मिल सकता है।

केंद्र सरकार ने एक दिन पहले ही पेट्रोल और डीजल से एक्साइज ड्यूटी कम करने की घोषणा की थी, जिसके बाद मध्यप्रदेश में भी पेट्रोल-डीजल की महंगाई से परेशान लोगों को राहत मिली है। इसके बाद अब प्रदेश सरकार ने भी वैट कम करने के संकेत दिए हैं। प्रदेश के वित्तमंत्री जयंत मलैया ने एक समाचार पत्र से की गई चर्चा में कहा है कि जब केंद्र सरकार एक्साइज ड्यूटी में कमी कर सकती है तो हम भी वैट कम करने पर विचार कर सकते हैं। वित्तमंत्री ने यह भी कहा कि दो दिनों बाद जीएसटी काउंसिल की बैठक होने वाली है, उसके बाद सरकार इस विषय पर निर्णय ले सकती है।

अभी ये है स्थिति: मप्र में फिलहाल पेट्रोल पर 31 प्रतिशत और डीजल पर 27 प्रतिशत वैट वसूला जा रहा है। इसके अलावा पेट्रोल पर 4 रुपए और डीजल पर 1.5 रुपए अतिरिक्त कर भी वसूला जाता है। इस तरह अतिरिक्त कर को भी मिला लिया जाए, तो पेट्रोल पर कुल 38.90 और डीजल पर 30.24 प्रतिशत टैक्स लगता है।

इसलिए बदला प्रदेश सरकार का रुख: वित्तमंत्री जयंत मलैया पिछले सप्ताह तक पेट्रोल-डीजल से वैट कम करने से इंकार करते रहे हैं, लेकिन अब अचानक उनका रवैया बदल गया है। जानकारों के अनुसार प्रदेश सरकार इसे लेकर दोहरे दबाव में थी। एक तो विपक्षी दल कांग्रेस इसे लेकर लगातार आक्रामक होती जा रही थी, वहीं केंद्र द्वारा दिए गए गए संकेतों का भी दबाव था। पहले केंद्र सरकार ने स्वयं पेट्रोल-डीजल से एक्साइज ड्यूटी कम की, उसके बाद पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने ट्वीट कर राज्येां से भी पेट्रोल- डीजल से वैट कम करने को कहा था। इससे भी ज्यादा महत्वपूर्ण बात यह रही कि धर्मेंद्र प्रधान के ट्वीट को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने री-ट्वीट किया था।

Updated : 2017-10-05T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top