Latest News
Home > Archived > भारत-इटली के बीच हुए रेल, ऊर्जा, अंतर्राष्ट्रीय सहयोग, निवेश को लेकर हुए अहम समझौते

भारत-इटली के बीच हुए रेल, ऊर्जा, अंतर्राष्ट्रीय सहयोग, निवेश को लेकर हुए अहम समझौते

भारत-इटली के बीच हुए रेल, ऊर्जा, अंतर्राष्ट्रीय सहयोग, निवेश को लेकर हुए अहम समझौते
X

नई दिल्ली। इटली के प्रधानमंत्री पाउलो जेटिंलोनी की आधिकारिक भारत यात्रा के दौरान भारत-इटली के बीच छह अहम समझौते हुए हैं। इटली के पीएम पाउलो जेटिंलोनी और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व रेल, ऊर्जा, अंतर्राष्ट्रीय सहयोग, सांस्कृतिक आदान-प्रदान एवं निवेश को लेकर ये समझौते हुए हैं।

भारत और इटली के बीच रेलवे क्षेत्र में सुरक्षा के लिए सहयोग के आशय की संयुक्त घोषणा रेनाटो मोजोनसिनी, सीईओ और महाप्रबंधक, इतालवी रेलवे और वेद पाल अतिरिक्त सदस्य (योजना), रेलवे बोर्ड, भारत सरकार के बीच हुई।

भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद और विदेश मामलों और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग मंत्रालय, इटली गणराज्य की सरकार के बीच 70 वर्षों के राजनीतिक संबंधों पर एमओयू भारत के लिए इटली के राजदूत लोरेन्जो एंजेलोनी और रिवा गांगुली दास, डीजी आईसीसीआर के बीच हुआ।

इसी तरह भारत और इटली के बीच ऊर्जा के क्षेत्र में एमओयू पर भारत के लिए इटली के राजदूत लोरेन्जो एंजेलोनी और आनंद कुमार, सचिव, एमएनआरई ने हस्ताक्षर किए।

भारत और इटली के बीच सांस्कृतिक सहयोग पर कार्यकारी प्रोटोकॉल पर भारत के लिए इटली के राजदूत लोरेन्जो एंजेलोनी और सुश्री रेनट संधू, इटली में भारत के राजदूत ने हस्ताक्षर किए।

विदेश मामलों और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग मंत्रालय के प्रशिक्षण इकाई के बीच समझौता ज्ञापन इटली गणराज्य की सरकार और विदेश मंत्रालय के विदेश सेवा संस्थान, भारत गणराज्य सरकार के बीच हुआ, जिस पर भारत के लिए इटली के राजदूत लोरेन्जो एंजेलोनी और जे एस मुकुल, डीन, एफएसआई ने हस्ताक्षर किए।

इसी तरह इतालवी व्यापार एजेंसी और निवेश भारत के बीच आपसी निवेश को बढ़ावा देने के लिए समझौता ज्ञापन पर मिशेल स्कैनवीनी, राष्ट्रपति, इतालवी व्यापार एजेंसी और दीपक बागला सीईओ, निवेश भारत ने हस्ताक्षर किए।

इटली के प्रधानमंत्री पाउलो जेन्टिलोनी और भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोमवार को दिल्ली में मुुलाकात हुई। दोनों राष्ट्राध्यक्षों ने भारत-इटली संबंधों को नए आयाम तक पहुंचाने के प्रयासों को लेकर बात की।

इतना ही नहीं भारत-इटली के बीच मोदी-जेन्टिलोनी के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत हुई। इस बैठक में दोनों देशों के उच्चाधिकारी, राजनयिकों एवं बिजनेस जगत के प्रतिनिधियों के प्रतिनिधिमंडल ने शिरकत की। दोनों राष्ट्राध्यक्षों ने 12 भारतीय और 19 इटैलियन कंपनियों के प्रमुखों से बातचीत की और भारत-इटली के बीच व्यापार बढ़ाने के प्रयासों पर चर्चा की। इटली की करीब छह हजार कंपनियां भारत में अपने उत्पाद बेचती हैं। इसी तरह भारतीय कंपनियां भी बड़ी संख्या में इटली के बाजार में मौजूद हैं।

इससे पहले इटली के प्रधानमंत्री पाउलो जेन्टिलोनी ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की। दोनों नेताओं के बीच चली लंबी वार्ता में भारत-इटली संबंधों को लेकर विस्तार से बात हुई।

इटली के प्रधानमंत्री पाउलो जेन्टिलोनी का सोमवार को राष्ट्रपति भवन में आधिकारिक तौर पर स्वागत हुआ। मेहमान प्रधानमंत्री के लिए राष्ट्रपति भवन में आधिकारिक स्वागत समारोह का आयोजन हुआ। जिसमें पाउलो जेन्टिलोनी को भारतीय फौज की तीनों टुकड़ियों ने गार्ड्स ऑफ ऑनर दिया।

इटली के प्रधानमंत्री पाउलो जेन्टिलोनी रविवार सुबह दिल्ली पहुंचे थे। दिल्ली के पालम हवाई अड्डे पर भारत सरकार की ओर से उनका स्वागत पर्यटन राज्यमंत्री जे. अल्फोंस ने किया था। जेन्टिलोनी अपनी पत्नी श्रीमती एमानुएला जेन्टिलोनी के साथ भारत की दो दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर आए हैं।

Updated : 2017-10-30T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top