Top
Home > Archived > देह व्यापार की सूचना पर दौड़ी पुलिस, 11 लड़कियां पकड़ी

देह व्यापार की सूचना पर दौड़ी पुलिस, 11 लड़कियां पकड़ी

महिला थाने से चार घन्टे बाद छोड़ा गया, थानाध्यक्ष ने कहा कुछ गलत नहीं

झांसी। चुनावी माहौल में आयी देह व्यापार और रंगरलियां मनाने की सूचना ने पुलिस महकमे के कान खड़े कर दिये और पुलिस की पीआरवी वैन ने एक दर्जन लड़कियों को पकडक़र महिला थाने के सुपुर्द कर दिया। फिलहाल महिला थाने से पकड़ी गयी लड़कियों को पूछताछ के बाद छोड़ दिया है।

प्राप्त विवरण के अनुसार डायल 100 पुलिस दल को किसी ने सूचना दी कि जेल चौराहे के पास स्थित खण्डहर के पास बने एक सेंटर में देह व्यापार के लिये बाहर से लड़कियां लाई गयी हैं और यहां से बाहर भेजा जायेगा। सूचना पर पुलिस की पीआरवी वैन ने तुरन्त बताये स्थान पर दबिश दी, जहां एक महिला के साथ ग्यारह लड़कियों को पकड़ लिया। उन्हें पूछताछ के लिये महिला थाने लाया गया। जहां से उन्हें भले घर की लड़कियां बता कर छोड़ दिया गया, बल्कि पुलिस ने पकड़ी लड़कियों के परिजनों को भी सूचना देने की हिम्मत नहीं दिखाई। महिला थानाध्यक्ष ने बताया कि डायल 100 पुलिस बल इन लड़कियों को थाने लाया था, लेकिन इन लड़कियों ने पूछताछ में बताया कि वे धार्मिक यंत्र बेचने का काम करतीं हैं जहां से एक यंत्र भी बरामद किया गया है। फिलहाल पुलिस ने सभी के नाम पते नोट कर उन्हें जाने दिया। मामले को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है और पुलिस की कार्यवाही पर सवालिया निशान लगना लाजिमी है क्योंकि जहां से लड़कियंा पकड़ी गयी है वहां से पहले भी ऐसी सूचनायें आती रही हैं। इस बात पर एक सवाल यह भी आ रहा है कि अगर पूछताछ कर छोडऩा ही था तो उन्हें पकडक़र थाने क्यों लाया गया? यदि थाने भी लाये तो चार घन्टे क्या पूछताछ हुयी इसका जबाव न तो पुलिस दे रही है और न ही मीडिया को उनसे बात करने दिया गया।

फिलहाल मामले में किस विवेक पर काम किया गया यह पुलिस ही जाने, लेकिन चुनाव नजदीक है और चर्चाओं के बाजार गर्म। लड़कियां जनपद के देहात ओर कस्बों की बतायी गयी है तथा दो लड़कियां झांसी की हैं। लेकिन पुलिस की अन्दर खाने में क्या बात हुयी यह तो वही जानें, लेकिन पकड़ी गयी लड़कियों के परिजनों को जानकारी देना जरूरी था। संदेह तो यहां पैदा हुआ कि पकड़ में आई एक दर्जन महिलाओं में सिर्फ एक यंत्र के आधार पर उसी काम को पुलिस ने कैसे सच मान लिया। जबकि पुलिस को लाख सबूत देने पर भी सबूत मानने में महिनों लग जाते हंै।

Updated : 2017-01-18T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top