Home > Archived > पीएमटी फर्जीवाड़ा: सीबीआई को मिलेंंगे शिशुपाल के मूल दस्तावेज

पीएमटी फर्जीवाड़ा: सीबीआई को मिलेंंगे शिशुपाल के मूल दस्तावेज

पीएमटी फर्जीवाड़ा: सीबीआई को मिलेंंगे शिशुपाल के मूल दस्तावेज

ग्वालियर। गजराराजा चिकित्सा महाविद्यालय के वर्ष 2008 के छात्र शिशुपाल सिंह के पीएमटी में फर्जी तरीके से चयन के मामले की जांच कर रही सीबीआई को आरोपी शिशुपाल सिंह यादव से संबंधित मूल दस्तावेज सौंपे जाएंगे। सीबीआई विशेष न्यायाधीश एस.सी.शर्मा के न्यायालय ने गुरूवार को यह आदेश दिए।

सीबीआई के विशेष लोक अभियोजक बृजकिशोर कुलश्रेष्ठ ने न्यायालय के समक्ष आवेदन प्रस्तुत कर जांच हेतु छात्र शिशुपाल यादव के मूल दस्तावेज न्यायालय से मांगे थे। सीबीआई की ओर से आदेश12 जुलाई 2016 के अनुक्रम में एक आवेदन इस आशय के साथ प्रस्तुत किया था कि आरोपी शिशुपाल सिंह यादव से संबंधित मूल दस्तावेज इस न्यायालय के समक्ष 20 जुलाई 2014 को पूरक चालान के साथ प्रस्तुत किए गए थे। आरोपी शिशुपाल यादव की मूल ओएमआर सीट एवं अलॉटमेंट लेटर सीबीआई को सह आरोपी राजू रतन सिंह यादव से मिलान किए जाने हेतु आवश्यकता है। अत: मूल अभिलेख में आरोपी शिशुपाल की वर्ष 2008 की पीएमटी परीक्षा की मूल ओएमआर सीट एवं एलॉटमेंट लेटर अग्रिम अनुसंधान के लिए दिलाई जाए।
न्यायालय को बताया गया कि प्रकरण में एसआईटी ग्वालियर द्वारा 30 जुलाई 2014 को आरोपी शिशुपाल यादव सहित अन्य आरोपीगणों के विरुद्ध अभियोजन पत्र प्रस्तुत किया गया एवं उक्त पूरक अभियोजन के साथ आरोपी शिशुपाल से संंबंधित जब्तशुदा ओएमआर सीट व अन्य मूल दस्तावेज भी इस न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किए गए थे।

न्यायालय ने उप पुलिस अधीक्षक सीबीआई को प्रकरण में संलग्न आरोपी शिशुपाल यादव की वर्ष 2008 की पीएमटी परीक्षा की मूल ओएमआर सीट एवं एलॉटमेंट लैटर अग्रिम अनुसंधान हेतु प्रदाय किए जाने का आदेश पत्रिका के पाश्र्व में उसकी पावती लिए जाने का आदेश पारित किया है। साथ ही कहा है कि जांच परीक्षण के प्रतिवेदन के साथ शीघ्रता से मूल दस्तावेज न्यायालय में वापस किए जाएं, क्योंकि विचारण पूर्व से ही बाधित हो रहा है और सह आरोपी न्यायिक निरोध में हैं।

उल्लेखनीय है कि शिशुपाल यादव पर आरोप है कि उसने वर्ष 2008 में पीएमटी परीक्षा फर्जी तरीके से पास कर चिकित्सा महाविद्यालय में प्रवेश लिया है। शिशुपाल ने पीएमटी के लिए गुना परीक्षा केन्द्र भरा था। इसके बाद वह परीक्षा देने नहीं गया था और उसका पीएमटी में चयन हो गया था। उसके स्थान पर झांसी मेडीकल कॉलेज के छात्र राजू ने परीक्षा दी थी।

Updated : 2016-07-15T05:30:00+05:30
Next Story
Share it
Top